दुबे के एनकाउंटर के बाद यूपी में सियासत, जानें किसने क्या कहा

0
73
  • अखिलेश व प्रियंका ने ट्वीट कर सरकार पर बोला हमला तो उठने लगे इस एनकाउंटर पर सवाल

लखनऊ। भले ही कानपुर शूटआउट केस के मास्टामांईड व दुर्दान्त अपराधी विकास दूबे की मौत के साथ ही इस केस का अब पटाक्षेप हो गया हो पर अब इस पर सूबे की ही नही पूरे देश की सियासत भी गरमा गयी है। जहां एक ओर सपा प्रमुख व सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि अगर गाड़ी ना पलटती तो सरकार पलट जाती वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में कहा है कि एक हत्यारे का अंत हो गया पर इससे अपराधी और राजनेता गठजोड़ की बात खुलकर सामने का गयी है। उन्होने अपने ट्वीट में यह भी कहा है कि यह सच भी अब सामने आना चाहिए कि इस तरह के अपराधी के परवरिश में कौन कौन लोग शामिल थे। उन्होने यह भी कहा है कि इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज के द्वारा करायी जानी चाहिए।

कानपुर शूटआउट के आठ दिन बाद आठ पुलिसवालों का हत्यारा आखिर कार यूपी एसटीएफ के द्वारा मार गिराया गया। निश्चित रुप से यह न्याय उन परिवारों के लिए राहत देने वाला है जिन परिवारों को इस दुर्दान्त हत्यारे ने उजाड़ा था। लेकिन अगर बात न्याय व्यवस्था की जाये तो इस एनकाउंटर पर अब सवाल भी उठ रहे हैं। हर कोई जानना चाहता है कि अगर सब कुछ महज इत्तेफाक था तो फिर पुलिस ने घटना स्थल से बीस किलोमीटर पहले ही मीडिया को क्यों रोक दिया? यह भी बात उठ रही है कि यूपी के इस मोस्टवांटेड के दोनो पैरों में राड पड़ी थी लिहाजा वह भागने में सक्षम नही था फिर उसने भागने का प्रयास कैसे किया? और इन सबसे बड़ा सवाल यह है कि अगर उसे भागना ही था तो उसने अपने आप को उज्जैन में आखिर क्यों पकड़वाया? शायद इन सवालों के जवाब अभी मिलने में समय लगेगा। फिल्हाल विकास दूबे की मौत ने यूपी के साथ ही पूरे देश की सियासत को गरमा दिया है।

हत्यारे विकास दूबे के मारे जाने के बाद सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सरकार पर तंज कसते हुए अपने ट्ववीट में कहा है कि गाड़ी नही पलटी है बल्कि सरकार पलटने से बच गयी है। सपा प्रमुख कानपुर केस के बाद से लगातार यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। वही कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी अपने ट्वीट के जरिये यूपी योगी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका ने अपने पहले ट्वीट में कहा कि अपराधी का तो अंत हो गया पर उसे संरक्षण देने वालों का क्या होगा? प्रियंका यहीं पर नही रुकीं उन्होने अपने वीडियों के जरिये जारी बयान में कहा है कि यूपी में कानून व्यवस्था बद्तर हो चुकी है अपराधी—राजनेता गठजोड़ प्रदेश पर हावी है, कानपुर कांड में इस गठजोड़ की सांठगांठ खुलकर सामने आ गयी है। उन्होने कहा है कि अब यह भी सामने आना चाहिए कि कौन कौन इस अपराधी की परवरिश में शामिल था। प्रियंका ने इस पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सीटिंग जज से कराने की मांग की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here