राष्ट्रपति चुनाव: कोविंद से टक्कर लेंगी मीरा कुमार, कहा…

0
1504
मीरा कुमार

नई दिल्ली। राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए कैंडिडेट रामनाथ कोविंद से टक्कर के लिए यूपीए ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाया है। नई दिल्ली में गुरुवार के हुई बैठक में विपक्ष ने एकजुट होकर मीरा कुमार का नाम तय किया है। बैठक में 17 विपक्षी दलों के नेताओं ने भाग लिया। एनसीपी के शरद पवार ने मीरा कुमार के नाम का प्रस्ताव रखा। विपक्ष का कहना है कि वह सेकुलर दलों से मीरा कुमार को समर्थन देने की अपील करेगा। मीरा कुमार 27 जून को नामांकन भरेंगी।

एकजुट हो रहे विपक्ष को मौके पर दगा दे गए नीतीश, कहा…

क्या कहा मीरा कुमार ने
मीरा कुमार ने कहा कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष और 17 विपक्षी दलों के सभी नेताओं को अपना आभार व्यक्त करना चाहती हूं, जिन्होंने सर्वसम्मति से मुझे अपना उम्मीदवार चुना है।

ये नेता हुए शामिल
कांग्रेस से सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल, गुलाम नबी आज़ाद, एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, बीएसपी से सतीश मिश्रा, टीएमसी से डेरेक ओ ब्रायन, केरल कांग्रेस से जॉर्ज मनी, समाजवादी पार्टी से रामगोपाल यादव, नरेश अग्रवाल, आरएलडी से अजीत सिंह, नेशनल कॉन्फ़्रेंस से उमर अब्दुल्ला, एनसीपी से शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, तारिक अनवर, सीपीएम से सीताराम येचुरी, सीपीआई से डी राजा, आरएसपी के प्रेमचंद्रन, डीएमके से कनिमोझी, जेएमएम से हेमंत सोरेन, जेडीएस से दानिश अली खान, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट प्रतिनिधि, मुस्लिम लीग कुंजली कुट्टी, आरजेडी से लालू और जयप्रकाश नारायण यादव बैठक में शामिल हुए.

मीरा कुमार ने की थी सोनिया से मुलाकात
गौरतलब है कि बुधवार को कांग्रेस नेता मीरा कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी, जिसके बाद सरगर्मी बढ़ गई थी। अंदाजा लगाया जाने लगा था कि विपक्ष मीरा कुमार को मैदान में उतार सकता है। इस बीच सीपीएम नेता सीताराम येचुरी का भी बयान आया था कि विपक्ष राष्ट्रपति चुनाव जरूर लड़ेगा।

नीतीश ने छोड़ा साथ

एनडीए कैंडिडेट के मैदान में आने के बाद विपक्ष लगभग बिखर चुका है। बुधवार को जनता दल यूनाइटेड प्रमुख और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने एनडीएम कैंडिडेट का समर्थन करने का ऐलान कर दिया है। वहीं सपा नेता मुलायम सिंह यादव भी यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की डिनर पार्टी में मोदी के साथ नजर आए थे।

क्या कहा था मायावती ने
बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी रामनाथ कोविंद का विरोध करने से इंकार कर दिया है। हालही में उन्होंने कहा कि रामनाथ कोविंद कोरी जाति से आते हैं वह प्रेसिडेंट पद के उम्मीदवार है ​इसलिए उनका विरोध बसपा नहीं करेगी लेकिन वह आरएसएस से जुड़े हैं। और उनकी मानसिकता भी बीजेपी से ग्रसित है।

https://www.facebook.com/Rahul-Gandhi-%E0%A4%8F%E0%A4%95-%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%A1%E0%A4%B0-%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%A7%E0%A4%BE-508942096163510/

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here