बिन पानी सब सून— सशक्त सिंह

0
92

रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून।
पानी गये न ऊबरे, मोती, मानुष, चून॥

जल ही जीवन है जल का बचाव ही हमारे भविष्य को सुरक्षित रख सकता है इसलिए हम सबको अपने जीवन में जल का बचाव जरूर करना चाहिए। यह बात आर्यकुल कालेज के प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह ने विश्व जल दिवस पर आयोजित संगोष्ठी के अवसर पर छात्र-छात्राओं से कही। आज विश्व जल दिवस के अवसर पर आर्यकुुल कालेज में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में संबोधित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि हम अपने जीवन में अगर पानी का अधिक दोहन न करें तो हमारा भविष्य बेहतर होगा क्योंकि बिना पानी के सब सून है, कथावत भी कही गयी है कि बिन पानी सब सून। हमें अपने दैनिक जीवन में भी पानी का बचाव करना चाहिए और जितना हो सके कम पानी ही प्रयोग करें।

संगोष्ठी में शिक्षा एवं पत्रकारिता विभाग की अध्यक्ष अंकिता अग्रवाल ने कहा कि हमें पीने योग्य पानी के अतिरिक्त खर्च के साथ ही साथ जल बचाओ की विभिन्न तकनीकों के द्वारा पानी को प्रदूषित होने से रोकना चाहिए। आज-कल औद्योगिकीकरण और तकनीकी रुप से सुधरते संसार में, सुरक्षित पानी बड़े स्तर पर सैकड़ों टन विषाक्त पदार्थों और मिलावट के साथ (औद्योगिक कचरे से) प्रदूषित होता जा रहा है। गंदे पानी को स्वच्छ और जैविकरुप से सुरक्षित बनाने के लिए बहुत से जल बचाओ के उपाय प्रयोग किए जाते हैं

इस अवसर पर कालेज के रजिस्ट्रार सुदेश तिवारी ने कहा कि हमें अपने जीवन में कम से कम अपने परिवार के सभी सदस्यों को पानी के बचाप और इसके उपयोग के बारे में जागरूक जरूर करना चाहिए क्योंकि अगर हर व्यक्ति अपने घर में इसको अपनाता है तो कई गुना पानी का बचाव हो सकता है।

वहीं संगोष्ठी में बच्चोें जल के महत्व के बारे में बताते हुए कहा बारिश के पानी को एकत्रित करके उसे शुद्ध बनाकर पीने के योग्य बनाया जाता है। देश में बहुत से ऐसे स्थान हैं, जहां के लोग सिर्फ बारिश के पानी पर ही निर्भर रहते हैं, सालभर बारिश का इंतजार करते हैं। जब बारिश आती है तो वे उस पानी को एक जगह जमा कर लेते हैं फिर उसी पानी को अपने सभी कार्य में उपयोग में लाते हैं। इस  अवसर पर कालेज समस्त शिक्षक मौजूद रहें।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here