कुम्हरावां की बिटिया अब लंदन में रोशन करेगी गांव का नाम

0
433

हमारे वर्तमान का भविष्य बुलंदियों पर तभी हो सकता है जब हमारे संस्कार, हमारे कर्म, हमारी सभ्यता, हमारी माटी और हमारी परिपाटी का आवरण हमारे वर्तमान को हर विकृति से बचाकर संस्कारवान, धैर्यवान और गुणवान बनाने का कार्य करेगा। ये तब सम्भव है जब हम सब मिलकर एक स्वच्छ समाज का निर्माण करेंगे। बड़ी खुशी होती है जब अपने बीच का कोई व्यक्ति तरक्की की सीढ़ियां चढ़ता है। यकीन मानिए ऐसा लगता है जैसे घर की चिटकी दीवारों पर कोई ब्रांडेड पेंट लग गई हो। बरसों से ​बिखरा आसियाना फिर से जगमगाने लगा हो। कुम्हरावां गांव की एक बिटिया (स्वाति मिश्रा पुत्री सुशील मिश्रा) को लंदन की एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ”लंदन स्कूल आफ हाइजीन एण्ड ट्रापिकल मेडिसिन यूनिवर्सिटी” में दाखिला मिला है। यह पब्लिक हेल्थ में विश्व की तीसरी बड़ी यूनिवर्सिटी है। इस पढ़ाई के लिए स्वाति को ब्रिटिश सरकार द्वारा स्कॉलरशिप भी मिली है।

अपार खुशी है कि देश की आजादी में अग्रणी 13 स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का गांव कुम्हरावां की एक बिटिया आज लंदन में अपने गांव ही नहीं देश का नाम रोशन करेगी। स्वाति के पिता श्री सुशील मिश्र होमगार्ड विभाग में प्लाटून कमांडर हैं। इतना ही नहीं हालही में गांव में 4 और बेटियों ने नाम रोशन किया है। शिक्षकों की नगरी से जाना जाने वाला कुम्हरावां गांव में श्री सुशील अवस्थी जी की दो बेटियों को प्राइमरी स्कूल में नौकरी मिली। साथ ही उनके बेटे अखंड शिखर अवस्थी को भीम राव अंबेडकर यूनिवर्सिटी में एलएलबी हेतु दाखिला मिला। साथ ही डाक विभाग में कार्यरत राजेश मिश्रा की बेटी और गांव में ही बाजपेई परिवार की एक बिटिया को टीचिंग की जॉब मिली। यह सब इन बेटियों की मेहनत, इनके परिवार के सदस्यों की तपस्या और समर्पण के बाद ही सम्भव हो सका। आप सभी को बहुत बहुत बधाई। जल्द ही आप सभी का इंटरव्यू मैं करूंगा। तैयार रहिए….

https://www.facebook.com/suyash.mishra.336 की वाल से

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here