ओपन लर्निंग स्कूल में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को झटका, नहीं दे पाएंगे नीट का एग्जाम

0
113

नई दिल्ली (संकल्प सिंह): ओपन लर्निंग स्कूल में पढ़ाई करके डॉक्टर बनने का सपना देख रहे स्टडेंट्स के लिए बड़ी खबर है, क्योंकि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) की ओर से जारी एक आदेश में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) से 12वीं कक्षा पास करने वाले विद्यार्थियों को कॉमन मेडिकल एंट्रेंस एक्जामिनेशन (नीट) में शामिल होने से रोकने का फैसला किया है। एनआईओएस को भेजे गए पत्र में एमसीआई ने कहा है कि उन्होंने ओपन स्कूल से पढ़ने वाले छात्रों को टेस्ट में शामिल करने के प्रस्ताव का अध्ययन किया है। ओपन स्कूल से पढ़ने वाले छात्र उन अर्हताओं को पूरा नहीं कर पा रहे हैं जो नियमित स्कूल या बोर्ड से पढ़ने वाले छात्र पूरा करते हैं। इसलिए उनकी नीट के लिए योग्यता न्यायसंगत नहीं है।

इससे पहले नवम्बर 2017 में काउंसिल ने ओपन लर्निंग स्कूल से पढाई करने वाले छात्रों के मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम में आवेदन करने पर रोक लगायी थी। उसके बाद बुधवार को एमसीआई ने इस फैसले को लेकर आदेश जारी कर दिया है। इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूल और ओपन लर्निंग स्कूल में पढने वाले छात्र लंबे समय से इसका विरोध कर रहें हैं। काउंसिल के इस आदेश के बाद लाखों छात्र मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में अब हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

गौतलब है कि पिछले साल मेडिकल काउंसिल की एग्जीक्यूटिव समिति ने काउंसिल के पुराने नियमों में बदलाव के लिए प्रस्ताव दिए थे। वहीं काउंसिल के इस फैसले पर ओपन लर्निंग से पढाई कराने वाली संस्था नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग का कहना है कि काउंसिल के इस आदेश से लाखों बच्चों का भविष्य खराब हो गया है। काउंसिल को इसके लिए कुछ वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिए। इस फैसले से लाखों बच्चे अब मेडिकल की शिक्षा पाने से वंचित रह जायेंगे। बता दें कि बड़ी संख्या में ऐसे छात्र है जो एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने कोटा आदि शहरों में जाते हैं और बारहवीं का एग्जाम ओपन लर्निंग से देते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हर साल तकरीबन 2 लाख स्टूडेंट्स ओपन स्कूल में दाखिला लेते हैं और 2017 में करीब 3000 ने  नीट परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। इनमें से 864 स्टूडेंट्स ने इसमें सफलता पाई थी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here