अयोध्या राम मंदिर के 100 किमी तक एरिया में गैर हिन्दुओं का प्रवेश न हो: साध्वी प्राची

0
137
sadhvi prachi
अखिलेश पर साध्वी का वार, कहा—जो अपने बाप का नहीं हुआ वह...

शामली। तब्लीगियों पर बार बार हमला करने वाली फायरब्रांड हिन्दुवादी नेता साध्वी प्राची ने राम मंदिर को लेकर बयान जारी किया है। साध्वी ने कहा है कि अयोध्या में निर्माणाधीन श्रीराम मंदिर हिंदुओं का है। इसलिए यहां किसी भी गैर हिंदू पर पूर्णतय: प्रतिबंध लगाना चाहिए। साध्वी ने कहा कि जिस तरह मक्का में किसी भी गैर मुस्लिम के प्रवेश को वर्जित किया गया है। वैसे ही अयोध्या में भी होना चाहिए।

डॉक्टर साध्वी प्राची ने सरकार से मांग की है कि राम मंदिर के 100 किमी एरिया में किसी भी गैर​हिंदू के प्रवेश को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। इससे पहले साध्वी प्राची ने तब्लीगियों को आतंकी बताते हुए उन पर प्रतिबंध लगाने की बात कही थी।

यह भी जान लें
आपको पता है कि हमारे देश में मंदिरों की संख्या अनगिनत हैं इनमें से कई मंदिरों के नियम काफी सख्त हैं जिसके साथ मंदिर के अंदर गैर हिंदुओं के प्रवेश की मनाही है यानी कि इन मंदिरों में केवल हिंदू ही जा सकते हैं । किसी भी अन्य जाति धर्म या संप्रदाय के लोग मंदिर में नहीं कर सकते हैं जैसे कि उड़ीसा का जगन्नाथ मंदिर वाराणसी का काशी मंदिर वाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर माउंट आबू का दिलवाड़ा मंदिर आदि।

इस्लाम के पवित्र तीर्थ स्थल पर अगर कोई गैर मुस्लिम चला जाए तो उसका अंजाम क्या होगा आज हम आपको बताते हैं । सबसे पहली और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि मक्का में कोई भी गैर मुस्लिम जा ही नहीं सकता क्योंकि धार्मिक मान्यताओं के अनुसार यहां केवल इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग ही जा सकते हैं। मक्का जाने के रास्ते में आपको जगह जगह बोर्ड देखने को मिलेंगे जहां लिखा हुआ है कि मक्का में गैर मुस्लिमों का प्रवेश वर्जित है। यहां पहले मुस्लिम के स्थान पर काफिर शब्द का इस्तेमाल किया जाता था लेकिन बाद में इसका प्रयोग बंद हो गया।


गैर मुस्लिम के प्रवेश से अपवित्र हो जाती है जगह

बता दें कि मक्का जाने के लिए विशेष परमिट की आवश्यकता पड़ती है जो इस बात का सबूत होता है कि यहां जा रहा व्यक्ति मुस्लिम है। इस बात का विशेष ख्याल रखा जाता है कि यहां गलती से भी कोई मुस्लिम ना जा पाए। ऐसा हो जाता है तो उस इंसान पर सरकार की ओर से जुर्माना लगाया जा सकता है उसे निकाल भी दिया जा सकता है ऐसी मान्यता है कि किसी भी गैर मुस्लिम के प्रवेश से ये जगह अपवित्र हो जाती है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here