मोहन भागवत ने कहा – मुसलमानों के बिना हिंदुत्व नहीं, अन्य दलों के लिए कहा…

1
3029

नई दिल्ली। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि उन्हें हिंदू राष्ट्र पर विश्वास है पर इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं कि वह मुस्मिल विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिमों के बिना हिंदू राष्ट्र अधूरा है। हमारी सोच वसुधैव कुटुम्बकम की है जिसमें सभी धर्मों को बराबरी का अधिकार है। दिल्ली के विज्ञान भवन में तीन दिवसीय कार्यक्रम में ‘भविष्य का भारत’ विषय पर उन्होंने अपनी राय दी।

कितने अमीर हैं PM मोदी, जानें पीएम बनने के बाद कितनी बढ़ गई सम्पत्ति
भागवत ने कहा कि देश में रहने वाले सभी लोग हिंदू हैं । अगर कुछ लोग कहें कि वह हिंदू नहीं भारतीय हैं तो भी उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। हिंदू शब्द से देश का स्वभाव एक बना रहेगा। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के संस्थापक सर सैयद अहमद का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जब 1881 में भारत लौटे तो लाहौर की आर्य प्रतिनिधि सभा ने बेरिस्टर बनने वाले पहले मुसलमान के नाते उनका स्वागत किया। खान ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि मैं भी तो इस भारती का बेटा हूं ।

अभी अभी: शिवराज के ये हैं 10 सवाल, जवाब दें राहुल

नागपुर से नहीं चलती सरकार
मोहन भागवत ने कहा कि कुछ लोगों ने यह भ्रम पाल रखा है कि सरकार नागपुर से चलती है ऐसा बिल्कुल गलत है। सरकार नागपुर से नहीं चलती। केंद्र में काम कर रहे काफी स्वयं सेवक रह चुके हैं। खुद प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति स्वयं सेवक रह चुके हैं। यह सब राजनीति में मुझसे वरिष्ठ हैं इनके पास अनुभव है इसलिए इन्हें मेरी सलाह की जरूरत नहीं। ये सभी निर्णय स्वयं लेने में सक्षम हैं अगर फिर भी ये कोई सुझाव हमसे चाहते हैं तो हम अपनी राय भी दे देते हैं।

इतनी सस्ती है जिंदगी, मौत के मुहाने पर पुलिसकर्मियों का परिवार

राजनीति से परहेज पर घुसपैठ पर…
मोहन भागवत ने एक बार फिर कहा कि संघ राजनीति में दिलचस्पी नहीं रखता इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं कि घुसपैठ पर चुप रहें। संघ का व्यक्ति किसी पार्टी में पद नहीं ले सकता। कहीं चुनाव नहीं लड़ सकता। उन्होंने कहा कि अगर संघ किसी एक दल की ओर आकर्षित है तो अन्य दलों को सोचना चाहिए कि उनमें आखिर क्या कमी है।

अगर आपको यह अार्टिकल पसंद आया है तो कृपया http://bhasmasur.com पर जाएं और हमें अपनी प्रतिक्रिया दें। अगर आप हमारी वेबसाइट पर आर्टिकल लिखने के इच्छुक हैं तो bhasmasur11@gmail.com पर संपर्क करें।

loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here