बड़ी खबर: RSS ने पहली बार अमित शाह को दी वार्निंग

0
1221

नई दिल्‍ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा के सामने खतरे की घंटी बजाई है। संघ ने दो मुद्दों का हवाला देकर भय जताया है कि बेरोजगारी और किसानों की समस्याएं अगले आम चुनाव में बीजेपी के लिए भारी पड़ सकती हैं।

टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय मजदूर संघ से जुड़े आरएसएस के एक नेता ने कहा कि वे लोग किसानों द्वारा सामना की जाने वाली समस्याएं और नौकरी के मौकों की कमी को लेकर बीजेपी को बार बार चेतावनी दे रहे थे। संघ नेता ने कहा कि अगर सरकार हमारी बात पर ध्यान देती तो बीजेपी का गुजरात में इस तरह का प्रदर्शन नहीं होता।

अभी अभी: पूरा देश हैरान, पीएम मोदी की बढ़ी धड़कने, कांग्रेस ने…

आपको बता दें कि बीजेपी ने गुजरात में भले ही सरकार बना ली हो लेकिन चुनाव के नतीजों से ना तो पार्टी संतुष्ट है और ना ही संघ। आरएसएस ने गुजरात से मिले अपने फीडबैक को पिछले शुक्रवार (28 दिसंबर) को बीजेपी के साथ साझा किया है। इस बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे।

जानें कौन हैं OP Singh, तीन बार रह चुके हैं लखनऊ SSP

संघ का मानना है कि नौकरी की कमी झेल रहा युवा सरकार से दुखी हो रहा है और ये मोहभंग होने वाली जैसी हालत है। संघ सूत्रों ने कहा कि अगर बीजेपी इन दो मुद्दों पर काम नहीं करती है तो 2019 के लोकसभा चुनाव और 2018 के विधानसभा चुनावों में पार्टी की राह मुश्किल हो सकती है।

आरएसएस की आर्थिक शाखा स्वदेशी जागरण मंच के एक नेता ने कहा कि गलत आर्थिक नीतियां किसानों और युवाओं की मुश्किलों का सबब बनती जा रही है। स्वदेशी जागरण मंच ने इस बावत सरकार को कुछ सुझाव दिये हैं। इस नेता के मुताबिक अगर वक्त पर कदम नहीं उठाये गये तो हालात नियंत्रण से बाहर जा सकते

हालांकि स्वदेशी जागरण मंच ने इस जीएसटी में किये गये बदलावों पर संतोष जताया है, और इसे सकारात्मक कदम कहा है। सूत्रों के मुताबिक आरएसएस ने संघ को भरोसा दिया है उनके सुझावों पर अमल किया जाएगा और किसानों और नौकरी के मुद्दे पर सरकार लोगों को निराश नहीं होने देगी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here