क्या ‘गोरहा का पुरवा’ की फूलन बन जाएंगी ऋचा दुबे?

0
128
Suyash Mishra

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के एक छोटे से गांव गोरहा का पूर्वा में एक मल्लाह के घर में जन्मी डकैत से राजनेता बनी फूलन के साथ तीन हफ्तों तक दरिंगदी हुई। फूलन को बेहमई गांव में एक घर के एक कमरे में बंद कर दिया गया था। तीन सप्ताह उसे पीटा गया, बलात्कार किया गया और अपमानित किया गया। उसे गाँव के चारों ओर नग्न करके घुमाया गया। तीन सप्ताह की कैद के बाद वह भागने में सफल रही और फिर उसने इस अपमान का बदला लिया और 22 लोगोंं को मौत के घाट उतार दिया। अब सवाल यह उठता है कि क्या विकास दुबे की पत्नी चंबल की फूलन बन जाएंगी?

आखिर क्यों उठा यह सवाल
हम यह सवाल इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि जिस तरह से विकास दुबे के अंतिम संस्कार के दौरान उन्होंने मीडिया से कहा इससे तो यही लगता है कि अब वह बदला लेंगी। लेकिन सवाल यह उठता है कि किसके लिए, उस दुर्दान्त अपराधी के लिए, जिसने दर्जनों लोगों को मौत के घाट उतार दिया। जिसके पिता ने उसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया। ऐसे अपराधी के लिए वह बंदूक उठाने की बात कर रही हैं।

क्या कहा है ऋचा दुबे ने
कानपुर के भौंती में शुक्रवार सुबह विकास दुबे का एनकाउंटर हुआ और इसके बाद उसका भैरव घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार में शामिल हुई विकास दुबे की पत्नी ने मीडिया पर राजनीति करने का आरोप लगाया। मीडिया ने जब उनसे पूछा कि विकास ने कत्ल नहीं किए थे क्या। विकास की पत्नी ने कहा- करेगा तो, तू कौन होता है बोलने वाला। ऋचा ने ये भी कहा कि जिसने गलती करी उसे सजा मिलेगी, ये मैं कह रही हूं। जरूरत पड़ेगी तो बंदूक भी उठाऊंगी।

अब सवाल यह उठता है कि क्या ऋचा दुबे भी फूलन देवी की तरह बागी हो जाएंगी। हालांकि फूलन के साथ तो जाजती हुई थी। जिसके परिणाम स्वरूप उसने बंदूक उठाई हालांकि उसे भी जायज नहीं ठहराया जा सकता। लेकिन ऋचा दुबे किसके लिए बंदूक उठाएंगे उनके साथ क्या गलत हुआ। विकास दुबे एक दुर्दांत अपराधी था जिसे उसकी सही जगह पहुंचाया गया है। बहरहाल फूलन देवी, माखन सिंह जैसा नसीब हर अपराधी का नहीं होता। हर अपराधी क नसीब में खादी नहीं होती।

ऋचा दुबे के खिलाफ नहीं मिले थे सबूत
लखनऊ में विकास की पत्नी की गिरफ्तारी के बाद उसे पूछताछ के लिए कानपुर लाया गया था। पांच घंटे पूछताछ में विकास की पत्नी रिचा का बिकरू कांड में कोई संलिप्तता नहीं मिली। इसके बाद उसकी पत्नी और बेटे को छोड़ दिया गया। बिकरू कांड के मुख्य आरोपित विकास दुबे की उज्जैन में गिरफ्तारी के बाद देर शाम पत्नी जिला पंचायत सदस्य ऋचा की भी गिरफ्तारी लखनऊ से हो गई थी।

पूछताछ में खोले कई राज
एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि विकास की मदद करने वाले सभी की जांच की जा रही है। इसमें ब्रह्मनगर के कारोबारी परिवार और कई अन्य शामिल हैं। इन सभी के अलावा करीब 15 लोग विकास के निकट संपर्क में थे। ऐसे लोग विकास के बाहुबल का इस्तेमाल करके रातोरात करोड़पति हो गए। इन सभी पर विकास की पत्नी रिचा से पूछताछ हुई है। पर्याप्त साक्ष्य के बाद इन सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। पूछताछ में विकास और उसकी पत्नी रिचा ने कई अहम जानकारी दी है। उन सभी जानकारियों को भी आधार बनाकर जांच शुरू कर दी गई है। अवैध खनन, सूदखोरी , प्रॉपर्टी का काम करने वाले कई सत्ताधारी और कारोबारियों के नाम सामने आए हैं। सभी के खिलाफ जांच की जा रही है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here