Rahul Gandhi ने सवालों के जरिए ढूंढा बड़ी परेशानी का हल

0
930
Congress President Rahul Gandhi
Rahul Gandhi Congress

कांग्रेस नेता Rahul Gandhi ने Coronavirus से जुड़े मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है। वर्तमान में पूरा विश्व Coronavirus समस्या से जूझ रहा है और इसका सबसे व्यापक असर वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ रहा है। सबसे अहम बात ये है कि इस आर्थिक संकट से भारत भी अछूता नहीं है। भारत के सामने भी Economy को लेकर बड़ी समस्याएं खड़ी होने की आहट है। इसी बीच Congress नेता Rahul Gandhi ने पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने अर्थव्यवस्था से जुड़े तमाम पहलुओं पर वीडियो सेशन के जरिए चर्चा की है।

Rahul Gandhi ने किए कई अहम सवाल –

पूर्व आरबीआई गवर्नर Raghuram Rajan के साथ वार्ता के दौरान Rahul Gandhi ने उनसे कई अहम सवाल किए।  Rahul Gandhi ने अर्थ के लिहाज से विभिन्न राज्यों के लिए अपनाई जाने वाली नीति पर सवाल किया तो वहीं मजदूरों व गरीब वर्ग से जुड़ी परेशानियों को लेकर भी सवाल पूछा।

क्या कहा पूर्व आरबीआई गवर्नर ने –

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से चर्चा के दौरान रघुराम राजन ने सभी सवालों का बड़ी सटीकता से जवाब दिया और काफी हद तक धुंधली तस्वीर को साफ करने का प्रयास किया। रघुराम राजन ने कहा कि वैश्विक मंच पर भारत एक बड़ी भूमिका निभा सकता है। भारत नए वर्ल्ड ऑर्डर में अपना स्थान बना सकता है। शक्तिहीन लोगों को शक्तिशाली नेता अच्छा लगता है। हम विभाजित समाज के साथ कहीं नहीं पहुंच सकते। उन्होंने कहा कि आज हमें स्वास्थ्य, नौकरी के लिए अच्छी व्यवस्था करने की आवश्यकता है। वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वैश्विक आर्थिक प्रणाली में कुछ गलत है। लोगों के पास नौकरी नहीं है। आय का असमान वितरण हो रहा है।

चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पूछा कि गरीबों की मदद करने के लिए कितना पैसा लगेगा। इस पर रघुराम राजन ने कहा कि, “तकरीबन 65 हजार करोड़ रुपये। हमारा जीडीपी दो लाख करोड़ की है। यह ज्यादा नहीं है। हम ऐसा कर सकते हैं। बातचीत के दौरान राहुल ने कहा कि भारतीय समाज की व्यवस्था अमेरिकी समाज से अलग है। जिसके लिए सामाजिक बदलाव जरूरी हैं। हर राज्य का अपना एक अलग तरीका है। तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश को एक ही नजरिए से नहीं देखा जा सकता। आज जिस तरह की असमानता है वह चिंता का विषय है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here