विवेक मर्डर केस: यूपी पुलिस पर उठे ये सवाल, सिपाहियों ने भी खोला मोर्चा

0
533

लखनऊ। विवेक तिवारी हत्याकांड में पुलिस पर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। अधिकारी शुरुआत से ही आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी को बचाने में लगे रहे। अपनों की हमदर्दी के कारण ही सरकार की भी जमकर फजीहत हुई। बावजूद इसके पुलिस अफसर अपने सिपाहियों का दिल जीतने में कामयाब नहीं हुए। उत्तर प्रदेश में इन दिनों सिपाहियों ने भी मोर्चा खोल दिया है। डीजीपी ओपी सिंह की चेतावनी के बाद भी लखनऊ में जगह जगह पुलिसकर्मियों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। हालांकि इस बीच एक सिपाही को सस्पेंड भी कर दिया गया है।

विवेक मर्डर केस: पुलिस ने बोले ये पांच झूठ, ऐसे कराई सरकार की फजीहत

यूपी पुलिस पर उठे ये बड़े सवाल

घटना के बाद एकलौती चश्मदीद को 17 घंटों तक पुलिस ने नजरबंद रखा?

एक्सिडेंट के बाद पुलिस की गाड़ी कम क्षतिग्रस्त थी बाद में ज्यादा डेमैज हो गई?

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक विवेक को गोली ऊपर से नीचे की तरफ लगी है?

विवेक मर्डर केस: विक्टिम का बयान, सिपाही ने बिना कुछ कहे…

जब आरोपी सिपाही ऊंचाई पर था तो फिर सेल्फ डिफेंस की कहानी क्यों बनाई गई?

चश्मदीद सना की तरफ से क्यों दर्ज कराई गई एफआईआर?

चश्मदीद सना से पुलिस ने सादे कागज पर दस्तखत कराकर मनमुताबिक एफआईआर लिखी?

एक भी पुलिस का अफसर सस्पेंड नहीं हुआ?

हत्या के अरोपी सिपाही को गोद में लेकर घूम रही थी पुलिस?

एसएसपी ने कहा आरोपी को अरेस्ट करके जेल भेजा गया है जबकि वह थाने में प्रेस कांफ्रेंस कर रहा था।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here