मायावती के इस फैसले से सभी को बोलना पड़ेगा ‘जय भीम’

0
1335

लखनऊ। ‘चरण वंदना’ को लेकर कई बार विवादों में रह चुकी बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने इस परम्परा खत्म कर दिया गया है। पार्टी नेतृत्व ने सभी कार्यकर्ताओं को आपस में ‘जय भीम’ बोलकर अभिवादन करने का निर्देश जारी कर दिया है। बीएसपी नेताओं के अनुसार पार्टी प्रमुख मायावती के निर्देश पर ही इस बड़ा बदलाव फैसला लिया गया है। इस बदलाव से सभी में समानता का भाव आएगा और पार्टी बैठकों में बेवजह समय की बर्बादी भी नहीं होगी।

पार्टी की बैठक में मायवती ने रोका

बीएसपी की मासिक बैठक हर माह 10 तारीख को होती है। जनवरी में हुई बैठक में करीब 450 पदाधिकारी शामिल हुए थे। हमेशा की तरह सभी पदाधिकारी पैर छूने के लिए आने लगे। ऐसे में पीछे बैठे पदाधिकारियों को आगे आने में खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था और साथ ही साथ इसमें काफी समय भी लग रहा था। पार्टी सूत्रों का कहना है कि बैठक में काफी समय तो सिर्फ पैर छूने में ही निकल जाता। इसे देखते हुए मायावती ने सभी को रोक दिया और आगे से सभी बैठक में पैर न छूने के निर्देश दे दिया। उन्होंने कहा कि अपनी जगह पर ही खड़े होकर ‘जय भीम’ कहकर संबोधित करें। इससे अच्छा अभिभावदन और कुछ नहीं हो सकता।

बदलाव के है संकेत

बीएसपी में शुरुआत से ही सभी नेता और कार्यकर्ता मायावती के पैर छूते रहे हैं। कई अफसरों ने भी सार्वजनिक मंचों पर पैर छुए। इस पर कई बार विवाद भी हुए हैं। विरोधी भी सामंतवादी व्यवस्था को कोसने वाली मायावती पर उसी व्यवस्था का पोषण करने का आरोप लगाते रहे हैं। ऐसे में पैर न छूने के निर्णय को बड़े बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here