हमारी प्यारी मेट्रो

0
153

संकल्प सिंह  की कलम से:-

नमस्कार ट्रांसपोर्ट नगर मेट्रो स्टेशन में आप सभी का स्वागत है। हम आशा करते हैं कि आपकी यात्रा सुखद होगी। कृपया दरवाजे से हटकर खड़े हो आने वाले यात्रियों को भी रास्ता दें।

लखनऊ मेट्रो की ऐसी अनाउंसमेंट सुनकर हंसी भी आती है और मेट्रो संचालित करने वाले अधिकारियों की बुद्धि पर तरस भी।
लखनऊ में मेट्रो 5 सितंबर 2017 को योगी सरकार ने चारबाग से लेकर ट्रांसपोर्ट नगर तक 8.5 किलोमीटर तक की दूरी के लिए शुरू कराई थी। जिसमें ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग तक कुल 8 स्टेशन शामिल है।
यह फोटो सबसे व्यस्त समय शाम 7:00 बजे जब सब ऑफिस से घर की ओर वापस लौटते हैं तब की है। जब ऐसे पीक आर में मेट्रो की यह हालत है तो फिर दरवाजे से कौन हटे?
चारबाग से कृष्णा नगर का ऑटो का किराया ₹15 है जबकि मेट्रो का ₹20।
तो फिर क्यों हम अपने ₹5 अतिरिक्त व्यय करें और अपने गंतव्य स्थान से दूर भी उतरें?
हाँ एक और बात लखनऊ मेट्रो का कार्ड बनवाने का किराया सौ रुपए है जबकि दिल्ली में मात्र ₹50।
खाली मेट्रो चलाने से बेहतर क्या यह नहीं होगा कि इस के किराए में 5 रुपए कटौती करके यात्रियों की संख्या को और बढ़ाने पर जोर दिया जाए?
इसके साथ ही मेट्रो कार्ड बनवाने का चार्ज भी कम किया जाए।
बाजार का इतना छोटा सा सिद्धांत आखिर हमारी सरकार को क्यों नहीं समझ आता?
आखिर संचालन का खर्च तो खाली मेट्रो चलने पर भी आ रहा है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here