अभी अभी: लोकसभा चुनाव से पहले बसपा समर्थकों के लिए आई खुशी की खबर

0
4047

लखनऊः 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले सभी पार्टियां गोरखपुर और फूलपुर सीट पर होने वाले उपचुनाव में तरह-तरह के समीकरण अजमानी में जुटी  हैं। वहीं बसपा भी खुद को सपा और कांग्रेस की तरह प्रबल दावेदार मानती है। जिसके चलते बसपा ऐसे समीकरण को बनाने में जुटी है जिससे बीजेपी और अन्य दलों की मुश्किलें बढ़ाई जा सके।

बता दें उपचुनाव के लिए पार्टी ने खास रणनीति तैयार की है। इस रणनीति में दलित वोट बैंक के साथ ही ईवीएम फार्मूला तैयार किया गया है। ईवीएम यानी अति​ पिछड़े, ब्राह्मण और मुस्लिम वोट बैंक को साधने के लिए बसपा ने प्रदेश भर में भाईचारा सम्मेलन करने जा रही है। अभियान को सफल बनाने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं। बसपा ने अपने इस अभियान की शुरुआत पीलीभीत से कर भी दी है।

वरिष्ठ बसपा नेता ठाकुर उम्मेद सिंह ने हाल ही में कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी और मोदी को रोकना है तो मुकाबला त्रिकोणीय होना चाहिए। राहुल गांधी के नेतृत्व में बने गठबंधन से मोदी और बीजेपी को नहीं रोका जा सकता। राहुल अभी इतने परिपक्‍व नहीं हुए हैं, लिहाजा एक गठबंधन सपा और कांग्रेस के नेतृत्व में और दूसरा मायावती के नेतृत्व में बने।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की 2 लोकसभा सीटों गोरखपुर और फूलपूर में उपचुनाव की घोषणा कर दी गई है। एेसे में गोरखपुर लोकसभा सीट पर होने वाला उपचुनाव काफी दिलचस्प माना जा रहा है। गोरखपुर सीट को वीआइपी सीट माना जा रहा है क्योंकि सीएम योगी मुख्यमंत्री बनने के पहले यहां पर लंबे समय तक सांसद रह चुके हैं। वहीं गोरखपुर के अलावा फूलपुर में होने वाले चुनाव में डिप्टी सीएम केशव मौर्य की साख भी दाव पर होगी। 11 मार्च को इन सीटों पर चुनाव पर मतदान होंगे और 14 मार्च को मतों की गिनती का काम किया जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here