आगनबाड़ी भवन निर्माण अधूरा, तो फिर कैसे हो गया भुगतान

0
310
  • ठेकेदार से लेकर ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने सरकारी पैसे का किया बंदरबांट
  • अगर होगी जांच तो स्थानीय अधिकारियों तक पहुंचेंगी आंच
  • चित्रपरिचय रू- अधूरा पड़ा भवन निर्माण तथा भवन में जुआं खेलते ग्रामीण। चित्रसंख्या-05 व 06

परसेण्डी (सीतापुर)। परसेंडी विकास खंड परसेंडी के अंतर्गत ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के द्वारा बनाए जा रहे आंगनवाड़ी भवन निर्माण में भारी अनियमितता हुई है। आंगनवाड़ी केंद्र भानहा पुर ग्राम पंचायत राही में निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्र वर्ष 2017 में निर्माण हेतु स्वीकृत हुआ था लेकिन ठेकेदार की घोर लापरवाही तथा ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों के द्वारा बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के कारण आज भी अपूर्ण पड़ा है। लेकिन ठेकेदार वह अमित कुमार इंजीनियर ग्रामीण अभियंत्रण विभाग सीतापुर की मिलीभगत के कारण भवन निर्माण अधूरा है। जबकि ठेकेदार का भवन निर्माण का पूरा पैसा भुगतान भी हो चुका है।

ग्रामीणों के द्वारा जब उच्च अधिकारियों से आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण अधूरा होने के विषय में जानकारी प्राप्त की तो उनको मालूम हुआ कि आंगनबाड़ी केंद्र प्रधान को रिसीव करा चुके हैं। जब नेता ग्राम प्रधान से ग्रामीणों ने पूछा तो ग्राम प्रधान ने बताया कि मेरे द्वारा आंगनवाड़ी केंद्र भवन को रिसीव नहीं किया गया है। ग्राम प्रधान ने बताया आंगनवाड़ी केंद्र मैं लैट्रिन का टैंक खुला पड़ा है तथा इसके साथ रंगाई पुताई एवं छत भी टपक रही है। ऐसी स्थिति में ठेकेदार के द्वारा भवन निर्माण को ठीक करा कर महिला एवं बाल विकास विभाग को प्राप्त करा दिया जाये। जिससे कि गर्भवती एवं धात्री महिलाओं का टीकाकरण एवं पोषाहार का वितरण भी आंगनवाड़ी भवन में हो सके।

इसके साथ ही परसेंडी विकासखंड में अन्य भवन भी अधूरे पड़े हैं। जिससे परसेंडी ब्लॉक में योगी सरकार में ठेकेदारों के द्वारा बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया जा रहा है तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा बनाए हुए भवन विभाग को नजर प्राप्त कराए जा रहे हैं ना महिला एवं बाल विकास विभाग को भवन निर्माण पूर्ण होने की कोई जानकारी है। इस संदर्भ में चेतना सिंह महिला एवं बाल विकास अधिकारी परसेंडी ने बताया कि मुझे भी ग्रामीण अभियंत्रण विभाग तथा ठेकेदार के द्वारा कितने भवन निर्माण पूरे हो चुके हैं।

कितने अधूरे हैं के संदर्भ में कोई जानकारी नहीं दी गई तथा नियम के विपरीत ग्राम प्रधानों को भवन को प्राप्त कराया जा रहा है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के द्वारा हमें तत्काल जितने भवन निर्माण पूरे हो चुके हैं उनकी लिस्ट तथा सत्यापन कराया जाए। अनूप श्रीवास्तव मंडल अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी परसेंडी ने भी आंगनवाड़ी केंद्रों के भवन निर्माण में भारी अनियमितता के संदर्भ में नाराजगी व्यक्त की है। शासन से मांग की है मानक के अनुरूप केंद्रों का हो भवन निर्माण हो। सुरेश गुप्ता जिला संयोजक व्यापार प्रकोष्ठ भाजपा ने भी भवन निर्माण में अनियमितता के संदर्भ में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here