गोरखपुर: सामने आई वजह, इसलिए डीएम ने नहीं घोषित किए थे परिणाम

0
3252

Lucknow. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का गढ़ कहे जाने वाले गोरखपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में दूसरे राउंड की गिनती में जैसे ही बीजेपी उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल पीछे हुए तो डीएम राजीव रौतेला ने नतीजों की घोषणा ही रोक दी। गोरखपुर में 10 राउंड के मतों की गिनती पूरी हो गई लेकिन नतीजों की घोषणा नहीं की गई। इसको लेकर जब सवाल उठने लगे तो डीएम ने सिर्फ चार दौर के नतीजो की घोषणा की।

अभी अभी खतरे में योगी की सीट, तीनों LS सीटों पर बीजेपी पीछे

प्रशासन ने मतगणना केंद्र पर मीडिया की एंट्री पर भी रोक लगा दी।
10 राउंड की गितनी हुई लेकिन सिर्फ पहले राउंड के नतीजे बताए गए।
दूसरे राउंड में ही सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला से आगे निकल गए थे।

LS चुनाव से पहले BJP की मुश्किलें बढ़ीं, विपक्ष एकजुट, NDA में टकरार

डीएम ने दिया ये तर्क
गोरखपुर डीएम राजीव रौतेला ने तर्क दिया कि ऑब्जर्वर द्वारा साइन न किए जाने के कारण नतीजों का ऐलान नहीं किया। बाद में दबाव बढ़ने पर डीएम ने दूसरे, तीसरे और चौथे राउंड के नतीजों का ऐलान किया जिसमें सपा उम्मीदवार को आगे बताया गया।

-इस घटना के बाद चारों तरफ जमकर आलोचनाएं हो रही हैं।
-वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता ने इस घटना को गुंडागर्दी और आतंक जैसे सख्त शब्दों से जोड़ा है।
-उन्होंने कहा कि डर के मारे अधिकारी नतीजे घोषित नहीं कर रहे।
-वहीं वरिष्ठ पत्रकार शरद प्रधान ने कहा कि मौजूदा डीएम राजीव रौतेला सीएम योगी के बहुत खास हैं।

बिहार-यूपी उपचुनाव Live: बीजेपी को बड़ा झटका, योगी का किला…

सीएम के नजदीकी होने के कारण नहीं हटे थे राजीव
आपको बता दें कि गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी के चलते पिछले साल कई बच्चों की मौत के बाद कई अधिकारी हटाए गए लेकिन राजीव सीएम से नजदीकी के चलते बचे रहे। वे अब उसी अहसान का कर्ज चुका रहे हैं।

हालांकि दबाव बढ़ने के बाद अब नतीजे सार्वजनिक हो गए है। सपा यहां 20000 वोटों से आगे हो गई। 14वें राउंड में सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद 20000 वोटों से आगे हो गए हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here