कैंसर से जूझ रही बूढ़ी मां, एनकाउंटर में शहीद हो गया बेटा

0
669

भस्मासुर डेस्क। मां कैंसर के इलाज से जूझ रही है। हर महीने दिल्ली में इलाज के लिए उसे अब कौन ले जाएगा। पुलिस विभाग में कार्यरत इस मां का बेटा शुक्रवार रात एक मुठभेड़ में शहीद हो गया। शहीद आशीष कुमार बिहार जिले में खगड़िया के पसराहा थाने में प्रभारी थे।

कैसे हुई पूरी घटना
बिहार के खगड़िया जिले के दियारा क्षेत्र में कुख्यात अपराधी दिनेश मुनि के छिपे होने की खबर पुलिस को लगी। शुक्रवार की देर रात आशीष कुछ सिपाहियों के साथ मौके पर पहुंचे। इसी दौरान दिनेश मुनि अपने दल के साथ पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी प्रतिक्रिया देते हुए अपराधियों को घेरने की कोशिश की। इस दौरान अशीष कुमार को गोली लग गई। उन्हें तुरंत अस्पताल लाया गया जहां उनकी मौत हो गई। इस मुठभेड़ में एक सिपाही भी घायल हुआ है। उसका नाम दुर्गेश पासवान है। उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल भेजा गया है।

लोटपोट: जब शोले वाली मौसी से एक अंध भक्त अमिताभ की स्टाइल में वोट मांगने पहुंचा…

अखिलेश यादव को कहां से मिलती है शक्ति, हमेशा दिखते हैं तनावमुक्त

कौन था दिनेश मुनि
इस घटना के बाद खगड़िया एसपी मीनू कुमार ने पूरे इलाके के सर्च आॅपरेशन कर आराधियों को खोजने के आदेश दिए हैं। खबर है कि इस इलाके में दिनेश मुनि गैंग के और साथी छिपे हैं। आपको बता दें कि दिनेश मुनि कुख्यात अपराधी है। खगड़िया इलाके में उसकी तूती बजती है। दिनेश पर हत्या, लूट, डकैती और अपहरण के दर्जनों मामले दर्ज हैं। इतना ही नहीं 6 महीने पहले दिनेश मुनि के गुंडों पर बस लूटने का भी अरोप लगा है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here