सलाम: गोलियां चल रही थीं पर पत्रकार मोर मुकुट ने कर दिया ये काम

0
881
mor mukut
more mukut

दोस्तों अगर आपने अभी तक हमें फॉलो नहीं किया है तो प्लीज अब जरूर कर लें। धन्यवाद!!

कहतें हैं जाको राखे साईयां मार सके न कोय। यह कहावत दूरदर्शन के पत्रकार मोर मुकुट के लिए कही जा रही है। दरअसल मोर मुकुट को दूसरा जीवन मिला है। वह मौत के मुहान से बच कर निकल आए। मोर मुकुट की दिलेरी की चर्चा पूरे देश में हो रही है।

छत्तीसगढ़ के तेवाड़ा से लगभग 30 किलोमीटर दूर अरनपुर में हुए नक्सली हमले में दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद साहू समेत दो जवानों की मौत हो गई। हमले के वक्त जब अचानक चारों तरफ से गोलियां चल रही थीं उस वक्त मोर मुकुट ने मान लिया था कि यह उनका आखिरी दिन है। इसलिए उन्होंने बहादुरी दिखाते हुए अपनी मां को एक वीडियो भेजा जिसमें उन्होंने कहा कि मां मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। तुम मुझे हमेशा याद आओगी।

कैमरामैन अच्युतानंद साहू
कैमरामैन अच्युतानंद साहू की मौत

यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है अरनपुर में हुए इस हमले में नक्सली एंबुश (घात लगाकर) बैठे थे। प्रत्यक्षदर्शी सुंदरराज के अनुसार दूरदर्शन की पूरी टीम मोटरसाइकल से थी। मृतकों में सब-इंस्पेक्टर रुद्र प्रताप, सहायक आरक्षक मंगलू और ओडिशा के रहने वाले दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद साहू शामिल हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here