बड़ी खबर: मायावती का ए और बी प्लान, गठबंधन को लेकर किया ये ऐलान

0
1269

Lucknow. लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर यूपी की राजनीति में नया मोड़ आ गया है। जिस बात का खतरा देखा जा रहा था वही हुआ। गठबंधन का अस्तित्व एक बार फिर खतरे में आ गया है। बसपा सुप्रीमो ने सख्त लहजे में सभी दलों को स्पष्ट कर दिया है कि सम्मानजनक सीट बंटवारे के बाद ही यह गठबंधन हो सकेगा। बसपा सुप्रीमो ने सभी दलों को अपनी ताकत दिखा दी है। उन्होंने कहा कि अगर बसपा समझौता करेगी तो सम्मान के साथ। मायावती के इस तेवर के बाद गठबंधन के प्रमुख दल कांग्रेस और सपा में खलभली मच गई है। बुआ और भतीजे की नजदीकियां भी गठबंधन को मजबूत धागे से जोड़ने में असफल दिखने लगी है। कमजोर विसात के बावजूद लोकसभा के महायुद्ध में बसपा सुप्रीमो मायावती ने गठबंधन को अपनी ताकत का अहसास करा दिया है।

लगभग चार महीने दिल्ली में रहने के बाद रविवार 17 सितंबर को अपने नए आवास में मायावती ने कहा कि अगर सम्मानजनक सीटें नहीं मिलेंगी तो वह अकेले चुनाव लड़ेंगी। अब देखना यह है कि कांग्रेस और सपा इस पर क्या करती है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि बसपा और विरोधी दलों की कोशिश यही है कि 2019 के लोकसभा चुनाव और कई राज्यों के विधानसभा चुनावों में बीजेपी को हराया जाए, लेकिन बसपा किसी भी पार्टी से तभी गठबंधन करेगी जब उसे सम्मानजनक सीटें मिलेंगी, वरना हम अकेले भी चुनाव लड़ सकते हैं।

80 सीटों के लिए खाका तैयार
मायावती ने 15 साल पहले बीजेपी से सीटों के बंटवारे को लेकर गठबंधन तोड़कर मुख्यमंत्री पद छोड़ने की कहानी बताकर गठबंधन के दूसरे दलों पर दबाव बढ़ा दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ए और बी दोनों प्लान बना लिए हैं । सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक दिल्ली में रहने के दौरान मायावती ने गठबंधन के साथ रहकर भी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगी साथ ही बिना गठबंधन के भी 80 सीटों के लिए खाका तैयार कर लिया है । इसमें संभावित प्रत्याशियों के नाम भी तय कर लिए गए हैं। गठबंधन में मायावती कितने सीटें मांग रही हैं इसका जिक्र उन्होंने नहीं किया लेकिन इसारों में यह कह दिया कि कोई समझौता होगा तो उनके हिसाब से होगा।

क्या हुआ था 2014 के चुनाव में
आपको बता दें 2014 के लोकसभा चुनाव में बसपा सुप्रीमो का यूपी में खाता तक नहीं खुला था। 80 सीटों में उन्हें एक भी सीट नहीं मिली थी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here