अभी अभी: लोकसभा चुनाव से बड़ी खबर, भाजपा के खिलाफ यूपी में बन गई बात

0
2112

Lucknow. ‘बीत गई सो बात गई, आगे बढ़ने के लिए कुछ भूलना पड़ता है।’ सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने बसपा से गठबंधन को लेकर पूछे गए एक सवाल में यह बात कही। गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में मिली सफलता के बाद बसपा और सपा के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी हैं। यूपी में कभी एक दूसरे के चिर प्रतिद्वंदी माने जाने वाले सपा और बसपा में गठबंधन के आसार नजर आ रहे हैं।

इस बीजेपी नेता ने योगी पर साधा निशाना,बोले पूजा पाठ करने वालो से नहीं चलेगी सरकार

क्या कहा अखिलेश यादव ने
दोनों की पार्टियां यह भांप चुकी हैं कि अगर बीजेपी को टक्कर देना है तो मिलकर लड़ना होगा। इसका साफ उदाहरण हालही में हुए उपचुनाव में देखने को मिला। विपक्ष भाजपा की करारी हार से बेहद उत्साहित है। बुधवार को अखिलेश यादव ने दोस्ती का हाथ बढ़ाते हुए मायावती से मिलने पहली बार उनके घर गए। दोनों के बीच 45 मिनट तक बातचीत हुई। गुरुवार को अखिलेश यादव ने कहा कि ‘बीत गई सो बात गई, आगे बढ़ने के लिए कुछ भूलना पड़ता है।’ इससे साफ जाहिर है कि सपा का अगला रुख क्या है।

राहुल गांधी ने शायराना अंदाज में केंद्र पर फिर साधा निशाना कहा-SSC महाघोटाले पर पर्दा क्यों?

क्या कहा मायावती ने
वहीं बसपा सुप्रीमो भी इस मामले में गंभीर हैं। 2014 के चुनाव में बसपा को एक भी सीट नहीं मिल सकी थी। मायावती यह जानती हैं कि मोदी मैजिक भले ही थोड़ा कम हुआ हो लेकिन यूपी में 2019 में सीटें निकाला इतना आसान नहीं होगा। पार्टी को मजबूत करने के लिए सपा के साथ गठजोड़ ही समय की मांग है। मायावती ने चंडीगढ़ में काशीराम की जयंती पर पूंजीवादी ताकतों और भाजपा को शिकस्त देने के लिए एक साथ आने की बात कही ।

मिल गया फार्मूला: हाथी के साथ से दौड़ गई साइकिल, लोकसभा में ऐसे परास्त होगी बीजेपी

भविष्य में अगर बसपा और सपा एक साथ चुनाव लड़ते हैं तो निश्चित तौर पर बीजेपी के लिए यह बुरी खबर है।

 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here