BSNL की नेटवर्क फ्रीक्वेंसी फेल, उपभोक्ताओं को हो रही परेशानी

0
74

मिश्रिख (सीतापुर)। बीएसएनएल कंपनी का सिर्फ नाम ही काफी है। तहसील क्षेत्र के बैंक व सरकारी कार्यालय सभी बीएसएनएल बैंड कनेक्शन से संचालित हो रहे हैं। वहीं सरकारी सीयूजी मोबाइल नंबर भी लगभग बीएसएनएल कंपनी के द्वारा ही संचालित है। इतने उपभोक्ता होने के बावजूद भी बीएसएनएल कंपनी की सेवाएं हमेशा बाधित बनी रहती हैं। तहसील चैराहा पर स्थित बीएसएनएल कंपनी का टावर यहां पर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के चलते सिर्फ सफेद हाथी ही साबित हो रहा है।

इस कार्यालय में सिर्फ चैकीदार के अलावा कोई अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद नहीं मिलता है। बताते हैं ज्यादातर अधिकारी व कर्मचारी वेतन न मिलने के कारण बीआरएस पर चले गए हैं। जिससे नेटवर्क फ्रीक्वेंसी की देख रेख तक करने वाला कोई नही है। वर्तमान समय इमरजेंसी विद्युत कटौती आम हो रही है। विद्युत लाइन में फाल्ट आ जाने पर बिजली न होने के कारण बीएसएनल नेटवर्क पूरी तरह से बंद हो जाते हैं। टावर के अंदर लगा लाखों रुपयों की कीमत जनरेटर संचालित नही किया जा रहा है। जिससे पूरा पूरा दिन बीएसएनएल मोबाइल और कंप्यूटरों में सर्वर की समस्या बनी रहती है।

यहां पर तैनात कर्मचारियों की लापरवाही के चलते जादातर उपभोक्ता अपना नंबर एयरटेल व जिओ आदि कंपनियों में पोर्ट कराना शुरू कर दिए है। बीते कई मांह से तमाम जन शिकायतों और समाचार पत्रों की सुर्खियां बनने के बाद भी बीएसएनएल के नेटवर्क सही होने का नाम नहीं ले रहे हैं। जिससे सरकारी कार्यालयों में अक्सर कंप्यूटर का कार्य बाधित बना रहता है और फरियादी इन कार्यालयों की गणेश परिक्रमा करने पर मजबूर हो रहे हैं। इसलिए यहां के उपभोक्ताओं ने जिलाधिकारी का ध्यान इस ओर आकर्षित कराते हुए यहां के बीएसएनएल कार्यालय में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here