विकास जरूरी या व्यक्ति? कृपया अखंड चूतियापा मत करिए!

0
146

Lucknow. हमारे समाज में एक अखंड चूतियापा है कि लोग विकास को कम व्यक्ति को ज्यादा तवज्जों देते हैं। …और जब मनमुताबिक काम नहीं होता तो जी भर गालियां भी देते हैं। यदा कदा नहीं सर्वदा, हर जगह ऐसे प्राणी पाए जाते हैं। इस समय कुछ ऐसे ही प्राणी बीकेटी क्षेत्र में हैं जो कि वर्तमान विधायक और सांसद से नाखुश होते जा रहे हैं। उनका सांसद और विधायक के प्रति मोह भंग होना भी लाजमी है, क्योंकि पिछले साढ़े चार सालों से सांसद जी और डेढ़ सालों से विधायक जी क्षेत्र में जमे हैं। सरकार भी इन्हीं की, राज्य में और केंद्र में भी। बावजूद इसके बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग जो कि इस क्षेत्र का मुख्य मार्ग है। इस 10 किमी लंबे मार्ग से प्रतिदिन तकरीबन 2 दर्जन से ज्यादा गांवों के लोग और अन्य बाहरी वाहन गुजरते हैं।

Photos: बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग का हाल: उफ्फ ये सड़क है, कोई देखता भी नहीं

यह मार्ग काफी सकरा है और इस पर रस अधिक है, मार्ग पूरी तरह उखड़ चुका है। जगह जगह बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं।​ विधायक जी और सांसद जी प्रतिदिन इस मार्ग से गुजरते हैं पर सवाल यह है कि इनके मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से वादा किया था कि प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त करके ही दम लूंगा। अब यहां विधायक इनके हैं सांसद इनकी पार्टी के लेकिन मुख्य मार्ग बदहाल। चुनाव आने वाले हैं। सांसद जी भी दौरा करेंगे विधायक जी भी, लेकिन अब सवाल यह उठता है कि वह सख्श कौन होगा जो इनको विकास का आइना दिखाएगा। बताएगा क्षेत्र की बदहाली के बारे में। इस क्षेत्र में छोटकए, बिचकए और बड़कए बीजेपी नेताओं की संख्या सैकड़ा पार कर चुकी है पर वह भी अपनी बुनियादी जरूरतों का गला घोंटकर पार्टी का झंडा बुलंद करने पर लगे हैं।

विधायक-सांसद बीजेपी के फिर भी गड्ढामुक्त नहीं हुई सड़क

इनके लिए विकास कम पार्टी ज्यादा जरूरी है, इसीलिए अब तक चुप्पी साधे बैठे हैं। या यूं कहें कि ये व्यक्तिगत स्वार्थों के चलते मजबूकर हैं। इसी अखंड चूतियापा के चलते समस्त क्षेत्रवासियों को समस्या के साथ हर रोज जोखिम उठाना पड़ रहा है। लगातार इस मार्ग को बनवाने के लिए मेरी तरफ से कोशिश जारी है, जल्द ही इसे गड्ढामुक्त कर दिया जाएगा, लेकिन अगर आप सब कोशिश करेंगे तो जल्द ही मार्ग चौड़ीकरण भी हो सकता है। बस सो चुके इन नेताओं को जगाने की जरूरत है। आप भी आगे आएं अपने हक के लिए लड़ें। अपनी आवाज बुलंद करें। विरोध करें अपने अधिकारों के संरक्षण के लिए। ये आपका लोकतांत्रिक अधिकार है। मैंने हालही में दृष्टांत मैग्जीन में इस समस्या को विशेष जगह दी थी साथ ही भस्मासुर डॉट कॉम पर भी इस संबंध में दो खबरें पोस्ट हुईं। इसके साथ ही शुक्रिया ग्राम्य वार्ता दैनिक अखबार और निखिल बाजपेई का जिन्होंने इस समस्या को अपने अखबार में विशेष जगह दी। शुक्रिया…

(कृपया इस मुहिम में आगे आएं और जिम्मेदारों तक यह पोस्ट पहुंचाने का कष्ट करें।)
#कुम्हरावां #भस्मासुर

साभार—सुयश मिश्रा की वाल से

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here