BKT से कुम्हरावां मार्ग: जख्मों पर मरहम लगना शुरू, समस्या जड़ से कब खत्म होगी पता नहीं!

0
848
suyash mishra

लखनऊ। बख्शी का तालाब से कुम्हरावां मार्ग का चौड़ीकरण वीरबल की वह खिचड़ी हो गई है जो पक ही नहीं रही। सांसद बीजेपी के हैं विधायक ​बीजेपी के हैं। साढ़े चार साल सांसद कौशल किशोर को हो गया। वहीं डेढ़ साल बीजेपी विधायक अविनाश त्रिवेदी को हो चुके हैं। बहरहाल सड़क चौड़ी कब होगी पता नहीं, लेकिन आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार 19 अप्रैल 2017 में बनी। योगी आदित्यनाथ ने शपथ ली। चुनावी वादों में उन्होंने कहा था कि 15 जून 2017 तक यूपी की सड़कों को पैचलेश (गड्ढामुक्त) कर देंगे। पर अब तक नहीं हुआ क्यों? क्योंकि गड्ढे भी उस बेहाया के पेड़ की तरह हैं जो अनायास हो जाते हैं। इस बार इंद्र देव की ज्यादा कृपा हो गई और बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग की सकल बिगड़ गई। फिलहाल बुधवार 19 सितंबर से सड़क को गुड्ढामुक्त करने का काम शुरू हो गया है। अधिकारियों का कहना है कि एक हफ्ते में इस समस्या से निदान मिल जाएगा। बहरहाल चौड़ीकरण की समस्या अब भी बनी रहेगी।

Photos: बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग का हाल: उफ्फ ये सड़क है, कोई देखता भी नहीं

बजट पास नहीं हुआ फिर भी कार्य शुरू
इंजीनियर पवन वर्मा ने बताया कि बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग को गड्ढा मुक्त करने के लिए अभी तक बजट पास नहीं हुआ है। लेकिन दृष्टांत द्वारा आम जन की समस्या की जानकारी के बाद कार्य शुरू करवा दिया गया है, ताकि लोगों को अब और समस्या न झेलनी पड़े। अब फाइल आगे लगाई गई है इसका पैसा मिलता रहेगा।

इं​जीनियर पवन वर्मा लोक निर्माण विभाग

  विकास जरूरी या व्यक्ति? कृपया अखंड चूतियापा मत करिए!

क्यों खराब हो रही है सड़क
आपको बता दें कि कुम्हरावां से बाबागंज मार्ग की मोटाई 50 सेमी है जबकि यहां ट्राफिक इतना नहीं रहता वहीं बीकेटी से कुम्हरावां मार्ग की मोटाई सिर्फ 30 सेमी है। जबकि यह सड़क अति व्यस्त सड़कों में है। इस रोड पर दो इंजीनियरिंग कॉलेज, स्कूल, कई फैक्ट्रियां लगी हैंं साथ जीटी रोड से जुड़े होने के चलते इटौंजा, बाबागंज और कुर्सी से भी भारी वाहन इस रोड से होते हुए जीटी रोड पर जाते हैं। इतना ही नहीं लगभग 2 दर्जन से ज्यादा गांवों के लिए भी यही एकलौता मार्ग है। इस सड़क की मोटाई 30 सेमी है। तथा 3 मीटर 70 सेमी चौड़ाई है। इसका चौड़ीकरण और सुदृड़ीकरण आवश्यक है।

विधायक-सांसद बीजेपी के फिर भी गड्ढामुक्त नहीं हुई सड़क

बीजेपी विधायक अविनाश त्रिवेदी का पत्र

कब बनी थी यह सड़क
आपको बता दें कि बीकेटी से कुम्हरावां की सड़क अखिलेश सरकार में साल 2014—15 में बनी थी। इंजीनियर पवन वर्मा ने बताया कि इस सड़क की लाइफ सिर्फ चार साल की ही होती है। इस लिहाज से इसका समय भी अब पूरा हो गया है। 2018—19 में इसको दोबारा बनना चाहिए।

हो चुका है ट्राफिक सर्वे
अक्टूबर 2017 में इसका ट्राफिक सर्वे हो चुका है। इस सड़क का दो बार स्टीमेट भी भेजा जा चुका है। पहली बार नवंबर 2017 में वहीं दूसरी बार मई 2018 में इसका एस्टीमेट भेजा गया था। लेकिन दोनों बार पास नहीं हुआ और वापस आ गया। 24 अप्रैल 2018 को फिर से एस्टीमेट भेजा लेकिन अधीक्षण अभियंता (एसी) अशोक कनौजिया ने यह कहते हुए फाइल वापस कर दी कि इसकी पुन: अवलोकन की आवश्यकता है। हालांकि कनौजिया जी ने उसमें यह कुछ भी नहीं बताया कि इसमें किस चीज के अवलोकन की जरूरत है, क्या सुधार किया जाए। आपको बता दें कि कनौजिया जी का तबादला हो चुका है वर्तमान में जय सिंह अधीक्षण अभियंता हैं।

क्या कहा इंजीनियर पवन वर्मा ने
बातचीत के दौरान पवन वर्मा ने कहा कि इस साल इंद्र जी की ज्यादा कृपा के चलते सड़क की हालत ज्यादा बिगड़ गई। एक हफ्ते में पूरी सड़क को पैचमुक्त कर दिया जाएगा।

क्या कहा चीफ इंजीनियर ने
चीफ इंजीनियर सिविल (पीडब्ल्यूडी)पंकज बकाया ने कहा कि आप द्वारा इस गंभीर समस्या को विभाग के संज्ञान में लाया गया कि इस रोड पर बहुत गड्ढे हैं। जन हित को देखते हुए हमने इंजीनियर को त्वरित आदेश दिए थे कि इसको ठीक कराया जाए। जैसा कि बुधवार यानी आज से कार्य शुरू हो चुका है। एक हफ्ते में पूरी सड़क पैचमुक्त हो जाएगी। इसके चौड़ी करण के लिए पहले ट्राफिक सर्वे होता है। फिर फाइल बनती है और पास होने के बाद सड़क का चौड़ी करण होता है। इसका जल्द ही पैसेंजर कार्य यूनिट (पीसीओ) होगा इसके बाद जरूरत दिखने पर इसका चौड़ीकरण किया जाएगा।

चीफ इंजीनियर पंकज बकाया लोक निर्माण विभाग

इस मार्ग को बनाने के लिए डिप्टी सीएम ने दी है हरी झंडी
आपको बता दें कि चंद्रिका देवी से बख्शी का तालाब, बख्शी का तालाब से कुम्हरावां और कुम्हरावां से बाबागंज तक तकरीबन 30 किमी लंबा मार्ग है। बीकेटी से चंद्रिका देवी मार्ग को लेकर 15 अगस्त 2018 को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने आदेश दिए कि इस मार्ग को 7 मीटर चौड़ा करने के लिए आवरण प्रस्तुत करें।

सलिल त्रिपाठी

सांसद कौशल किशोर और विधायक अविनाश त्रिवेदी ने भी लिखा था पत्र
आपको बता दें कि इस सड़क को लेकर सांसद कौशल किशोर द्वारा दो साल पूर्व पत्र भेजा जा चुका है। वहीं एक पत्र विधायक अभिनाश त्रिवेदी द्वारा भी भेजा गया है। इन दोनों पत्रों में इस सड़क के चौड़ीकरण की मांग की गई है।

अगर आपको यह अार्टिकल पसंद आया है तो कृपया http://bhasmasur.com पर जाएं और हमें अपनी प्रतिक्रिया दें। अगर आप हमारी वेबसाइट पर आर्टिकल लिखने के इच्छुक हैं तो bhasmasur11@gmail.com पर संपर्क करें।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here