जजौर पंचायत के लोगों ने दृष्टांत को कहा शुक्रिया, नहीं हुई कार्रवाई तो करेंगे प्रदर्शन

0
3911

Sitapur. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगा हुआ जिला सीतापुर के सिधौली ब्लाक में स्थित जजौर गांव में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर दृष्टांत के अक्टूबर अंक की विशेष रिपोर्ट को जजौर गांव के लोगों ने बहुत सराहा। ग्रामीणों ने दृष्टांत को शुक्रिया कहते हुए मैग्जीन को हाथ में उठाकर फोटोज खींचकर हमारे दफ्तर भेजी हैं। आइए देखते हैं फोटोज।

आपको बता दें कि जजौर गांव में ग्राम प्रधान, सेक्रेटरी और बीडियो की मिलीभगत के चलते जमकर पंचायत में लूट हुई है। ग्रामीण लगातार इसका विरोध करते रहे हैं। चाहे पीएम आवास हो, चाहे शौचालय या फिर युवक मंगल दल की पंचायती जमीन पर अवैध तरीके से प्रधानमंत्री आवास बनवाने का मामला हो ग्रामीण लगातार विरोध करते रहे हैं और परियोजना निदेशक, पंचायती राज, डीपीआरओ ,सीडीओ से लेकर डीएम तक को इसकी शिकायत करते रहे हैं लेकिन पीएम मोदी की इस महत्वाकांक्षी योजना में हो रही लूट पर ये अधिकारी भी मौन हैं।

आपको बता दें खुद लेखपाल ने एक रिपोर्ट में बताया कि युवक मंगल दल की सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से आवास बनवाए गए हैं । बावजूद इसके न तो तहसीलदार और उच्च अधिकारियों  द्वारा प्रधान के खिलाफ कोई एक्शन लिया गया और न ही ग्रामीणों को कोई सांत्वना दी गई।

ग्रामीणों का कहना है कि अगर उनकी आवाज नहीं सुनी गई तो वह प्रदर्शन करके इस भ्रष्ट्रतंत्र के खिलाफ सरकार तक आवाज बुलंद करेंगे। ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम प्रधान आनंद कुमार अधिकारियों के संरक्षण, सेक्रेटरी और बीडीओे की मदद से अपने करीबियों को रेवड़ी की तरह मकान बांट रहे हैं। इसमें पात्र कम अपात्रों की संख्या अधिक है। आरोप है कि कई ऐसे लोगों को आवास दिया गया है जो कि 20 साल से भी गांव नहीं आए। किसी के पास तो 20 बीघा जमीन है फिर भी उन्हें गरीब बताकर आवास दे दिया गया। कई ऐसे लोग भी हैं जिनके पास पहले से घर था और पीएम आवास भी मिल गया तो उसी पुराने घर को पुताकर पीएम आवास बताकर पैसे हड़प लिए गए। इस खेल में नीचे से लेकर ऊपर तक संलिप्तता की बात सामने आ रही है।

नीचे दिए गए लिंक में आप पूरी खबर पढ़ सकते हैं।

सीतापुर: लुट रहा पीएम मोदी का सपना, डीएम साहिबा के पास नहीं है समय

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here