पुलिस हमारी मित्र ही नहीं मददगार भी होती है

0
832

बन्थरा,लखनऊ । (राहुल तिवारी)पुलिस हमारी मित्र ही नहीं मददगार भी होती है और इस प्रकार की यदि मदद जिसके लिए हो जाए उसके लिए भगवान भी साबित होती है।

हमारे समाज में जहां एक ओर पुलिस का चेहरा संदेहप्रद बताया जाता है, वहीं आज हम आपको पुलिस के दूसरे चेहरे के बारे में बताएंगे कि वह किस प्रकार लोगों की मदद करके उनके लिए भगवान के समान साबित होती है। जनपद प्रतापगढ़ के मानिकपुर थाना अंतर्गत दौरी बाग अहिरन पुरवा निवासी राजवती पत्नी स्वर्गीय छोटे लाल मौर्या जिनकी उम्र 75 वर्ष के करीब है। वृद्धावस्था के चलते जिनकी मानसिक स्थिति भी कुछ ठीक नहीं रहती है। करीब 20 दिन से घर से बिना किसी को कुछ बताए कहीं भटक गई थी, जोकि किसी प्रकार वहां से चलते चलते राजधानी के बंथरा थाना स्थित रामदास पुर गांव पहुंच गई यहां पर ग्रामीणों ने जब एक वृद्ध और थोड़ा विक्षिप्त सी लग रही महिला को देखा तो शुक्रवार को स्थानीय हरौनी चौकी प्रभारी हरिनाथ सिंह को सूचित किया।

चौकी प्रभारी ने तत्काल ही पुलिस की टीम को भेजकर महिला की जानकारी करवाई सिपाही सर्वेश कुमार ने महिला की हालत को देखते हुए गांव के ही संदीप पाल के सुपुर्द करते हुए उसकी देखभाल करने को कहा जब ग्रामीण संदीप ने महिला को नहला धुला कर खाना खिलाया तो वह कुछ बोलने की हालत में हुई और अपना आधा अधूरा पता बता सकी इस पते को जब पुलिस द्वारा वेरीफाई किया गया तो वह सही निकला जिस पर चौकी प्रभारी ने उनके परिवार को सूचना दिया ,और उनके आने पर रविवार सुबह महिला की बेटी संगीता को सुपुर्द कर दिया। महिला के परिवार में 5 बेटियों सहित एक बेटा पिंटू मौर्य है। जिनका अपनी मां के गायब हो जाने से बुरा हाल हो रहा था और आज जब वो मिली तो उन लोगों ने भगवान के साथ साथ हरौनी पुलिस का भी शुक्रिया अदा किया।
वहीं स्थानीय रामदास पुर के ग्रामीणों ने संदीप पाल सहित हरौनी पुलिस की टीम में शामिल चौकी प्रभारी हरिनाथ सिंह हेड कांस्टेबल इंद्रपाल सिंह,सर्वेश कुमार व प्रभा शंकर प्रजापती की भूरि- भूरि प्रशंसा की व धन्यवाद् दिया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here