क्या ट्रेन ड्राइवर अरविंद ने कर ली है खुदकुशी, आप भी जान लें पूरा सच

0
282

दशहरे के दिन 61 से ज्यादा लोगों को रौंदने वाली ट्रेन के ड्राइवर ने खुदकुशी कर ली है? यह खबर सोशल मीडिया पर धडल्ले से वायरल हो रही है। इसमें एक आदमी किसी पु​ल के नीच फांसी के फंदे से लटक रहा है। आसपास भीड़ लगी है। वहां पर मौके पर पुलिसकर्मी भी दिख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर बताया जा रहा है कि फांसी पर लटका हुआ व्यक्ति उसी ट्रेन का ड्राइवर अरविंद कुमार है। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। अाखिर सच्चाई क्या है। आइए हम आपको बताते हैं।


सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था ड्राइवर का पत्र
ध्यान रहे कि सोमवार को ट्रेन ड्राइवर अरविंद कुमार का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें ​अरविंद ने उस रात की पूरी कहानी बताई थी। उसने कहा था कि सामने धुएं की वजह से उसे कुछ दिख नहीं रहा था। घटना वाले फाटक से पहले वाले फाटक पर उसे ग्रीन सिग्नल मिल रहा था। इसलिए वह उसी गति से गाड़ी ला रहा था। आगे घटना वाले फाटक पर उसे यलो सिग्नल दिखा जिसका मतलब गाड़ी की गति को कम करना होता है। तब तक उसे सामने ट्रेन पर लोगो की भीड़ भी दिख गई। ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दी और हॉर्न बजाता रहा, लेकिन गाड़ी जब तक रुक पाती तब तक कुछ लोग कट चुके थे।

फांसी का क्या है राज
सोशल मीडिया पर जिस आदमी को अरविंद बताया जा रहा है दरअसल वह तस्वीर पंजाब के रहने वाले हरपाल सिंह की है। हालही में उसने फांसी लगाकर जान दे दी थी। भास्कर समेत कई वेब पोर्टलों ने उसकी खबर लगाई है।

द लल्ललन टॉप में चल रही एक खबर के मुताबिक यह शव अरविंद का नहीं बल्कि हरपाल सिंह का है। इस बात की पुष्टि द प्रिंट की एसोसिएट एडिटर चितलीन के सेठी ने एक ट्वीट करके किया है।अमृतसर के पुलिस कमिश्नर एस श्रीवास्तव का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि अरविंद कुमार ने खुदकुशी नहीं की है। वह सलामत है। उनके आॅफिसिएल एकाउंट से किए गए ट्वीट का स्क्रीनशॉट संलग्न है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here