69 हजार शिक्षकों की भर्ती पर लगी रोक, जान लें वजह

0
180

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को तगड़ा झटका लगा है। सरकार 69 हजार शिक्षकों की नियुक्तियां पूरी करने में बहुत तत्परता दिखा रही थी। सरकार का मानना था कि इस कोरोना काल मे जल्द नियुक्तियां होने पर अनेकों अभ्यार्थियों को बहुत राहत मिलेगी।

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने बुधवार को इस पर स्टे लगा दिया है। उत्तर प्रदेश में 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती पर रोक लग गई है। कोर्ट ने 8 मई के बाद सभी प्रक्रिया पर रोक लगा दी है। आपको बता दें कि आज काउंसलिंंग होनी थी।

यह आदेश जस्टिस आलोक माथुर की बेंच ने दर्जनों याचियों की पेटिशन्स पर एक साथ सुनवारी करके पारित किया। कोर्ट ने 1 जून को अपना आदेश सुरक्षित किया था जिसे आज सुनाया।

याचियों ने घोषित रिजल्ट में कुछ प्रश्नों की सत्यता पर प्रश्न उठाया था। कोर्ट ने याचियों को विवादित प्रश्नों पर आपत्तियों को एक सप्ताह के भीतर राज्य सरकार के समक्ष प्रस्तुत करने को कहा है। आपत्तियों को सरकार यूजीसी को प्रेषित करेगी व यूजीसी आपत्तियों का निस्तारण करेगी। अगली सुनवाई 12 जुलाई को होगी।

राज्य सरकार की ओर से महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह एवं अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता रणविजय सिंह ने पक्ष रखा था जबकि विभिन्न याचियों की ओर से वरिस्ठ अधिवक्ता एल पी मिश्र, एच जी एस परिहार, सुदीप सेठ आदि ने पक्ष रखा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here