22 देशों के डेढ़ सौ प्रवासी भारतीय पहुंचे अयोध्या

0
114

लखनऊ। लखनऊ से चलकर देर रात बुधवार को रामनगरी में पहुंचे 22 देशों के करीब डेढ़ सौ प्रवासी भारतीयों ने गुरुवार की सुबह रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला का दर्शन-पूजन किया। इसके साथ ही हनुमानगढ़ी व कनकभवन में भी माथा टेका। इससे पहले प्रवासी भारतीयों के समूह ने मां सरयू के पुण्य सलिल का आचमन कर पुष्पार्चन किया और मां के प्रति अपनी श्रद्धा निवेदित की। इसी के साथ समस्त प्रवासी सैलानी मणिराम छावनी पहुंचे और वहां भी दर्शन-पूजन के बाद श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास महराज का आर्शीवाद प्राप्त किया।

न्यास अध्यक्ष महंत श्रीदास ने उन्हें अयोध्या और सरयू का महात्म्य बताते हुए कहा कि यह नगरी सप्तपुरियों में सर्वश्रेष्ठ है और सृष्टि के आरम्भ मे महाराज मनु की बसाई अत्यन्त प्राचीन नगरी है। उन्होंने मां सरयू को आदि गंगा बताते हुए कहा कि भगवान शंकर के जटा से निसृत होकर धराधाम पर अवतरित गंगा तो भगीरथ गंगा है। उन्होंने कहा कि वेद-पुराणों में आदि गंगा का महत्व बताते हुए वर्णन आया है कि दरस परस मज्जन अरु पाना, हरइ पाप कह वेद पुराना।

इससे पहले प्रवासी समूह का संयोजन करने वाले हांगकांग निवासी सोहन गोयनका ने कहा कि चारो ओर बैरीकेडिगों से घिरे और अस्थाई टेण्ट में विराजमान रामलला हमारे आराध्य हैं। उनकी यह स्थिति बहुत ही पीड़ादायक है। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने एक दिन पूर्व लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट के दौरान अतिशीध्र राम मंदिर कराने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि यहां आकर पुन: मै सबकी भावनाओं के अनुरुप मंदिर जल्द से जल्द होने की प्रार्थना करता हूं। उन्होंने कहा कि हम सब यथाशक्ति सहयोग करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने बताया कि वह दूसरी बार समूह के साथ भारत दौरे पर आए हैं। उनका दल दस जुलाई को नई दिल्ली आ गया था। वहां पूरे समूह का स्वागत विहिप की ओर से किया गया।

प्रवासी भारतीय महासम्मेलन का आमंत्रण दिया
उधर कारसेवकपुरम में प्रवासी दल का स्वागत करते हुए विहिप के केन्द्रीय सह मंत्री आनंद प्रकाश गोयल ने बताया कि सीएम योगी ने सभी प्रवासियों को प्रवासी दिवस के मौके पर लखनऊ में 22 जनवरी से आयोजित होने वाले प्रवासी भारतीय महासम्मेलन का आमंत्रण दिया है, जिसे उन्होंने स्वीकार किया। श्रीगोयल ने यह भी जानकारी दी कि इन प्रवासी भारतीयों के सहयोग कारसेवकपुरम में एक धर्मशाला का भी जल्द निर्माण कराया जाएगा। प्रवासी दल का स्वागत करने वालों में केन्द्रीय मंत्री राजेन्द्र सिंह पंकज, संरक्षक पुरुषोत्तम नारायण सिंह, प्रांतीय संगठन मंत्री भोलेन्द्र, मीडिया प्रभारी शरद शर्मा, 84 कोसी परिक्रमा प्रभारी सुरेन्द्र सिंह, सेवा विभाग प्रमुख धर्मेन्द्रजी, प्रांत संयोजक महेश मिश्र के अलावा पोलैण्ड के राजकुमार सबलानी, सिंगापुर के सुरेश पंसारी व दक्षिण अफ्रीका के किशोर सबलानी शामिल रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here