​पुलिस और वकील विवाद पर सुनवाई, किरण वेदी ने ​किया ट्वीट

0
733

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस बनाम वकीलों की लड़ाई अब अदालत पहुंच चुकी है। तीस हजारी कोर्ट हिंसा मामले की सुनवाई करेगा। 10 घंटे के बाद पुलिस के जवानों ने धरना खत्म कर दिया है। शनिवार को तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच भिड़ंत हुई तो मंगलवार को दिल्ली पुलिस के जवान इंसाफ मांगने के लिए सड़क पर उतर आए थे।

दिल्ली हाईकोर्ट में बुधवार को इस मामले में सुनवाई होनी है। इस मामले में अदालत ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी किया था।

किरण वेदी ने भी किया है ट्वीट
पुलिस और वकीलों के बीच चल रहे इस विवाद में पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, नागरिकों को इसे नहीं भूलना चाहिए। हम जो भी हो और कहां भी हो। अगर हम सभी कानून का पालन करते हैं तो कोई विवाद नहीं होता है।

दिल्ली पुलिस के जवान ने कहा है कि हमारा जनता ने साथ दिया है। कमिश्नर और ज्वाइंट कमिश्नर के आश्वासन पर हमें भरोसा है। इसलिए हमने धरने को खत्म कर दिया हैै।

अभी भी जारी है वकीलों का विरोध

केंद्र सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई की अपील की थी, जिसके बाद अब अदालत ने BCI और अन्य काउंसिल को नोटिस जारी किया है। हालांकि, वकीलों का कहना है कि वह जिला अदालतों में अभी भी हड़ताल पर रहेंगे। वकीलों का कहना है कि जबतक बदतमीजी करने वाले पुलिसकर्मियों पर एक्शन नहीं होगा तो वह काम पर नहीं लौटेंगे।

गृह मंत्रालय के बाद दिल्ली HC ने खारिज की पुलिस की अर्जी

दिल्ली हाई कोर्ट ने गृह मंत्रालय की अर्जी खारिज कर दी है. गृह मंत्रालय ने 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच हिंसा को लेकर हाई कोर्ट के आदेश पर स्पष्टता मांगी थी. इसके अलावा दिल्ली हाई कोर्ट ने साकेत जिला अदालत मामले में पुलिस की अर्जी को खारिज कर दिया है. पुलिस ने वकीलों पर एफआईआर दर्ज कराने की इजाजत मांगी थी.

कोर्टरूम में वकीलों की भारी भीड़

दिल्ली हाईकोर्ट में इस वक्त तीस हजारी हिंसा पर सुनवाई हो रही है. चीफ जस्टिस के कोर्ट में भारी संख्या में वकील मौजूद हैं, अदालत में मची अफरातफरी और शोरगुल के बाद चीफ जस्टिस उठकर अंदर चले गए हैं.
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here