प्रिंसिपल के ठेंगे पर हाईकोर्ट का आदेश, नहीं बांटी मार्कशीट

0
1682
राजधानी लखनऊ के गोलागंज स्थित क्रिश्चियन कॉलेज में छात्रों को मार्कशीट न दिये जाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है।
हाईकोर्ट के आदेश को प्रिंसिपल ने मार्गशीट देने से साफ इंकार कर दिया। उलटा छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कॉलेज प्रशासन ने पुलिसिया बल का प्रयोग किया। न्याय की मांग कर रहे छात्रों को पुलिस ने डंडे से सबक सिखाया।  जिसके बाद हतास छात्र मदद की गुहार लगाने डीएम कार्यालय पहुंच गये। जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को हाईकोर्ट के आदेशानुसार 318 छात्रों को मार्कशीट दिया जाना था। लेकिन जब छात्र मार्कशीट लेने पहुंचे तो कॉलेज के प्रिंसिपल आज़ाद मसीह ने मार्कशीट देने से इंकार कर दिया। जिस पर छात्रों ने प्रिंसिपल का विरोध किया।
लेकिन कॉलेज प्रशासन ने पुलिस बुला ली और छात्रों को वहां से भगा दिया। गौरतलब है कि कॉलेज में शिक्षक रोहित स्प्रिंग और आज़ाद मसीह के बीच प्रिंसिपल पद को लेकर विवाद चल रहा है। वहीं दोनों में विवाद इतना बढ़ गया कि साल 2014 में कॉलेज में दोनों ही प्रिंसिपल बनकर काम करने लगे, इस विवाद के दौरान रोहित स्प्रिंग ने 318 छात्रों के 11 वीं कक्षा के लिए पंजीकरण करवाये और आज़ाद मसीह ने 171 छात्रों के। साल 2017 में कॉलेज कुल 489 छात्रों के आवदेन भरवाये गये थे। इसके बाद जब परीक्षा की मार्कशीट आयीं तो तत्कालीन कार्यवाहक प्रिंसिपल आज़ाद मसीह ने केवल 171 छात्रों के अंक पत्र लेने की बात कही। जिस पर उनके खिलाफ  कोर्ट में केस भी किया गया। वहीं बीते वर्ष कोर्ट ने आज़ाद मसीह को सभी छात्रों के मार्कशीट देने का आदेश दिया जिस पर उन्होंने केवल 171 छात्रों की मार्कशीट 24 जुलाई को दे दी। लेकिन शेष 318 छात्रों के मार्कशीट जिला विद्यालय निरीक्षक कक्ष में सुरक्षित रख दी गयीं। इसके बाद हाई कोर्ट ने शुक्रवार को क्रिश्चियन कॉलेज प्रशासन को 318 छात्रों की मार्कशीट वितरित करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने प्रिंसिपल आज़ाद मसीह को कहा था कि डीआईओएस के परीक्षा कक्ष-5 से मार्कशीट लें और छात्रों को वितरित करें। इसके बावजूद छात्रों को मार्कशीट नहीं दी गयी।
पुण्यतिथि पर याद किये गये स्व.बीएन सिंह
राज्य कर्मचारियों की समस्याओं के लिए जो लड़ाई स्व. बीएन सिंह ने लड़ी उनका अपना इतिहास है। केन्द्र के सामान वेतन भत्ते दिलाने में जो संघर्ष उन्होंने किया वह उन्हें कर्मचारियों के यौद्धा की उपाधि देता है। कर्मचारी हित में उनका संघर्ष सदैव याद रखा जायेगा। आज भले ही वे हमारे बीच नही है लेकिन उनकी सीख पर चलकर ही हम उन्हें सच्ची श्रंद्धाजलि दे सकते है।
यह विचार परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी ने स्व. बीएन सिंह की प्रतिमा के सामने श्रद्धासुमन आर्पित करने के बाद रखे। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के संस्थापक स्वर्गीय बीएन सिंह की 19वीं पुण्य तिथि पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के बैनर तले प्रदेश के समस्त जनपदों में श्रद्धांजलि अर्पित की गई। लखनऊ में जिलाध्यक्ष बीएस डोलिया के नेतृत्व में कर्मचारी प्रेरणा स्थलबीएन सिंह की प्रतिमा स्थल पर श्रद्धांजली सभा का आयोजन हुआ। जिसमें कर्मचारियों ने भावभीन श्रद्धांजलि अर्पित की। परिषद के अध्यक्ष हरि किशोर तिवारी, महामंत्री शिवबरन सिंह यादव, संगठन मंत्री संजीव कुमार गुप्ता ने स्वर्गीय सिंह के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। सभा का संचालन प्रान्तीय महामंत्री शिवबरन सिंह यादव एवं जिला मंत्री अमिता त्रिपाठी ने किया गया। समापन जिले के वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह ने किया।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here