स्वच्छता में निगम ने लगाई 92 रेंक की छलांग, लोग पूछ रहे हैं यह सूची कैसे बनती है!

0
19
  • नरकीय बने हुए हैं शहर के हालात, जलभराव और कूड़े से ढकी हैं सड़कें

मथुरा। स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में नगर निगम मथुरा-वृंदावन ने 92 स्थान की छलांग भरते हुए देश में 39वीं रैंक हासिल की है। 2019 में निगम को 133वां स्थान मिला था। इस दफा निगम ने बेहतर प्रदर्शन किया है। महापौर डॉ. मुकेश आर्य बंधु और नगर आयुक्त रविंद्र कुमार मांदड़ ने महानगर के सभी लोगों, सामाजिक संस्थाओं, पार्षदगण आदि का आभार व्यक्त किया। यह खबर किसे खुश करने वाली है यह सवाल उठ रहा है। इस सूची में मथुरा वृंदावन नगर निगम की लम्बी छलांग की खबर को पढ़ने के बाल लोग पूछ रहे हैं यह सूची कैसे तैयार होती है। तीन दिन पहले हुई बरसात के बाद मथुरा और वृंदावन की हालत बेहद चिंताजनक हो गई।

शहरी में जगह जगह सडकें उखडी पडी हैं। जल निगम और दूसरी कार्यदायी संस्थाओं के काम आधे अधूरे पड़े हैं। डोर टू डोर कूडा कलेक्शन की स्थिति ठीक नहीं है। डंपिंग ग्राउंड पर साल भर कूडा जला कर निस्तारित किया जाता रहा है। गलियों से लेकर सडक तक यहां वहां कूडे के ढेर हैं। इस जमीनी हकीकत के बावजूद स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में मथुरा वृंदावन निगम ने 39वीं रैंक प्राप्त कर 92 महानगरों को पीछे छोड़ दिया। प्रदेश में चैथा स्थान प्राप्त किया है। निगम ने स्वच्छ सर्वेक्षण में रोटी बैंक और बहुत सी सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लिया। महापौर डॉ. मुकेश आर्यबंधु और नगर आयुक्त रविंद्र कुमार मांदड़ ने बताया कि वह आगे इससे भी अधिक अंक लाने का प्रयास करेंगे। इस दौरान पार्षद श्याम सिंह, एसएस यादव क्षेत्रीय स्वास्थ्य अधिकारी, मदन मोहन कार्यालय अधीक्षक आदि मौजूद थे।

धीमी गति से चलते निर्माण कार्य के कारण मथुरा वृन्दावन मार्ग खुदा पड़ा है
डेढ़ साल से जल निगम व नगर निगम मथुरा, वृन्दावन मार्ग पर 500 मीटर सीवर का कार्य पूरा नहीं करा पा रहा है। अभी तक काम पूरा होने का नाम ही नही ले रहा है। डेढ़ साल से चल रहे सीवर के कार्य के कारण सड़क पर चलना फिरना कितना मुश्किल हो रहा है इसको यहां के स्थानीय लोगों से समझा जा सकता है।

जनप्रतिनिधियों का पता नहीं, कोई निरीक्षण करता नहीं
भाजपा होली गेट मण्डल, मथुरा के मीडिया प्रभारी श्याम शर्मा ने कहाकि नगर निगम द्वारा जो निर्माण कराया जा रहा है उसका भगवान ही मालिक है, यहां चिडिमार, माया टीला, अंबेडकर बगीची के पीछे सीवर की 6 इंच की लाइन को तीन इंच से मिलाया जा रहा है क्या यह भविष्य में झेल पाएगी। जनप्रतिनिधियों का पता नहीं, कोई निरीक्षण करने भी आता नहीं।

विदेशी गुजरते हैं गंदे पानी से होकर
श्री ब्रजयात्रा सेवा संस्थान के संस्थापक, अध्यक्ष नरेन्द्र एम. चतुर्वेदी ने बताया कि बड़े ही दुख का विषय है सम्पूर्ण ब्रज विकास की बात करने वाली सरकार भरतपुर गेट से चैक बाजार, वृंदावन दरवाजा श्रीधाम वृंदावन को जाने वाले प्रमुख मार्ग पर चमेली देवी गर्ल्स इंटर कॉलेज के बाहर नाला विगत डेढ़ दो साल से खराब पड़ा है दिन रात गन्दा पानी बहता रहता है जहाँ से स्थानीय सहित देश-विदेश से आने वाले लाखों लोग गुजरते हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here