सिद्धू ने नवाज की तारीफ की तो पाक प्रेमी, अटल जी ने क्या किया था

0
941

”सिकंदर ने डरा कर दुनिया जीती थी, आपने प्यार से दिल जीत लिया।” ये शब्द नवजोत सिंह सिद्धू के हैं जो उन्होंने करतारपुर में पाक पीएम इमरान की तारीफ में बोले हैं। हालांकि उन्होंने इमरान की तारीफ में और कसीदे भी पढ़े हैं। मैं पूरा वीडियो देख चुका हूं। वीडियो में सिद्धू सिर्फ मोहब्बत की बात कर रहे हैं। इमरान के प्रति मीठा बोल रहे हैं और इसमें मुझे कोई बुराई नजर नहीं आती , लेकिन इस मी​ठे बोल का कुछ लोग विरोध कर रहे हैं। पर क्यों? क्या सिर्फ इसलिए कि सिद्धू अब कांग्रेसी हैं। अगर सिद्धू की जगह पाक में किसी सत्ता में काबिज भारतीय नेता को बतौर अतिथि बुलाया जाता तो वह इमरान के लिए कैसा भाषण देता, क्या इस बात का जवाब किसी के पास है।

देश में भी किसी को पाक प्रेमी बताने की कोशिश की जा रही है जो कि ठीक नहीं है। हमें यह समझना चाहिए कि हम सिर्फ आतंकवाद के विरोधी हैं किसी देश के या वहां की आवाम के नहीं। सत्ता में काबिज लोग भी पड़ोसी मुल्क से दोस्ती के लिए बार बार हांथ बढ़ाते रहे हैं और उसकी तारीफ भी होती रही है, लेकिन एक विरोधी दल के नेता ने कोशिश की तो उसका विरोध। याद करिए फरवरी 1999 में श्री बाजपेई जी भी लाहौर बस लेक​र गए थे जिसका स्वागत हुआ लेकिन मई 1999 में कारगिल शुरू हो गया जिसका भारत ने भरपूर जवाब दिया। उस दौरान अटल ने तत्कालीन पाक पीएम नवाज शरीफ को फोन पर लताड़ते हुए कहा था कि आपने पहले हमें लाहौर बुलाकर स्वागत किया और फिर कारगिल शुरू कर दिया। बावजूद इसके भारत बार बार पाकिस्तान से दोस्ती करता रहा। जो कि हमारा स्वाभाव है और ​इसका देश में समर्थन भी हुआ। फिर सिद्धू से इतनी बेरूखी आखिर क्यों?

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here