साध्वी प्राची ने कसा तंज, राहुल गांधी के लिए कह दी ये बड़ी बात

0
252

लखनऊ। राहुल गांधी कांग्रेस का फेलियर बच्चा है। राहुल गांधी का होमवर्क भी चाइनीज लग रहा है। कांग्रेस और चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी में समानता है। दोनों एक जैसी ही हैं। यह कहना है विश्व हिंदू परिषद की फायरब्रांड नेता डॉ. साध्वी प्राची का।

राहुल ने देश से सवाल किया:साध्वी
साध्वी ने कहा कि राहुल गांधी का चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से रिश्ता क्या है। मुझे तो राहुल का शी जिनपिंग की पार्टी से गठबंधन लग रहा है यही कारण है कि राहुल गांधी ऐसी भाषा बोल रहे हैं, ऐसे सवाल कर रहे हैं। राहुल सिर्फ प्रधानमंत्री से ऐसे सवाल नहीं कर रहे बल्कि पूरे देश से कर रहे हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री पूरे देश का होता है।

शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी
इस समय पूरा देश सदमे में है। हमने 20 सैनिक खोए हैं। उनकी शहादत को देश भुला नहीं सकता। प्रधानमंत्री ने कहा है कि शहीदों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। साध्वी ने कहा कि राहुल गांधी भूल गए कि नरसिंह राव सरकार और देवगौड़ा सरकार ने चीन से क्या समझौता किया था। उसी समझौते के तहत हमारे देश की सेना ने वही किया जो कांग्रेस सरकार ने समझौते में लिखा था।

शहीदों के घर जाएं राहुल
साध्वी ने कहा कि अभी तो शहीदों की चिताएं ठंडी भी नहीं हुई हैं। आज उनको श्रद्धांजलि दी जा रही है। नेहरू खानदान के इस बच्चे की कितनी गंदी राजनीति है। देश की सेना पर बार बार हमला बोलना ये नेहरू खानदान की फितरत बन गई है। साध्वी ने कहा कि राहुल गांधी ने अगर देश का नमक खाया है तो शहीदों की शहादत पर राजनीति न करें। साध्वी ने राहुल को सलाह दी है ‘शहीदों के घर जाओ क्योंंकि शहीदों के घर में तीर्थ होता है।’

क्या कहा है राहुल ने
आपको बता दें कि राहुल गांधी ने एक बार फिर जवानों की शहादत पर सवाल उठाए हैं। राहुल गांधी ने बेतुका बयान देते हुए कहा है कि भारतीय जवानों को बिना हथियार के क्यों भेजा गया। आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच हुई संधि के मुताबिक सीमा पर हथियार ले जाना मना है। यही कारण है कि भारत- चीनी सीमा पर लंबे समय से गोली नहीं चली। ये अलग बात है कि कई बार हाथापाई हुई है। संधि के मुताबिक वहां हथियार ले जाने की मनाही है।

राहुल गांधी ने इससे पहले भी जवानों की शहादत पर मोदी सरकार पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि मोदी जी चुप्पी क्यों साधे हुए हैं। मोदी जी छिप क्यों रहे है। राहुल ने कहा था कि सीमा पर आखिर हुआ क्या है यह बताया जाए।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here