सात सितम्बर से शिकागो में होगा विश्व हिन्दू कांफ्रेंस

0
241

लखनऊ। विहिप के केन्र्द्रीय सचिव राजेन्द्र्र सिंह पंकज ने बताया कि भारत में तीर्थाटन को बढ़ावा देने के लिए विश्व भर में निवास कर रहे भारतीयों को संगठन की ओर एकजुट करने का अभियान चलाया गया है। इसी सिलसिले में शिकागो में सात सितम्बर 2018 से तीन दिवसीय विश्व हिन्दू कांफ्रेंस का आयोजन किया गया है।
उन्होंने बताया कि 1893 की सितम्बर माह में ही शिकागो में स्वामी विवेकानंद ने दुनिया भर को भारत की आध्यात्मिक शक्ति का परिचय दिया था। उन्होंने कहा कि भारत आध्यात्मिक ऊर्जा सम्पन्न देश है। पूरे विश्व में इस आध्यामिकता का प्रभुत्व हो, तभी शांति स्थापित होगी। उन्होंने कहा कि आरएसएस के विभिन्न आनुषांगिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने दुनिया भर के अलग-अलग फिरकों के बीच सामाजिक दायित्वों का निर्वाह करते हुए जो अनुभव अर्जित किया है, वही वैभवशाली भारत का वास्तविक ब्लूप्रिंट है।
तीर्थाटन व पर्यटन में घालमेल बंद हो
विहिप रणनीतिकार श्रीपंकज ने केन्द्र व प्रदेश सरकारों से तीर्थाटन व पर्यटन में घालमेल बंद करने की मांग करते हुए कहा कि दोनों विभागों को अलग कर उनका बजट निर्धारित किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी मांग की है कि धार्मिक स्थानों में विकास की रुपरेखा प्रधान देवता/देवी (डीटीज) की गरिमा के अनुरुप कराया जाए। उन्होंने कहा कि भारत ने पूरी दुनिया को सत्य, अहिंसा, करुणा और शांति का संदेश दिया है। यह संदेश फिर जाए, इसमें प्रवासी भारतीयों की बड़ी भूमिका है, इसलिए उन्हें संगठित करना भी जरुरी है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here