वीडियो: तुम करो तो रास लीला , हम करें तो करेक्टर ढीला।

0
838

तुम करो तो रास लीला , हम करें तो करेक्टर ढीला। यही हमारे लोकतंत्र की खूबसूरती है जो आपको भरपूर बोलने का अधिकार देता है ताकि आप किसी की भी भावनाओं को ठेस पहुंचा सकें। बहरहाल मैं इसका सख्त विरोधी हूं। क्योंकि गंगा के पानी को और नाले के पानी को एक ही तराजू में नहीं तोला जा सकता।

दोस्तों पिछले 15 दिन की दो घटनाएं याद कर लीजिए, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पश्चिम बंगाल में जाने से रोक दिया गया। बहुत हंगामा हुआ। लोकतंत्र खतरे में आ गया। इसके बाद चिटफंड मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने सीबीआई उनके घर पहुंची तो उसे कस्टडी में ले लिया गया। ममता बनर्जी धरने पर बैठ गईं और एक बार फिर लोकतंत्र खतरे में पड़ गया। मंगलवार यानी आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोक दिया गया। वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में जा रहे थे।

अब आप देख लीजिए इस घटना पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने क्या कहा।

इस घटना के बाद अखिलेश समर्थक धरने पर बैठ गए।
मामला बढ़ता देख बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट कर दिया।
और एक बार फिर लोकतंत्र खतरे में आ गया। दोस्तों इन दिनों बड़ा हास्यास्पद ड्रामा चल रहा है। आने वाले चुनावों में जनता तय करेगी की लोकतंत्र खतरे में है या नहीं बहरहाल एक सवाल मेरा भी है कि आने वाले चुनाव तक और कितनी बार लोकतंत्र खतरे में पड़ेगा?
कमेंट बॉक्स में भरपूर प्रतिक्रिया दें। वीडियो शेयर करें ताकि और लोगों को भी प्रतिक्रिया देने का मौका मिल सके। धन्यवाद

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here