विपक्षी गठबंधन पर हथौड़ा चलाने जा रहे हैं मोदी, बना लिया है ये प्लान

0
323

सियासी चाणक्यों का मानना है कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर गुजरता है। अर्थात् अगर केंद्र में राज करना है तो उत्तर प्रदेश में पहले सियासी बिसात बिछानी होगी। साल 2014 में जिस तरह बीजेपी को यूपी से बढ़त मिली वह 2019 में अगर डगमगाई तो दिल्ली दूर हो सकती है। यह बात पीएम मोदी अच्छी तरह जानते हैं। यही कारण है पश्चिमी उत्तर प्रदेश को छोड़ इस समय पूर्वी यूपी में बीजेपी पूरा दम लगा रही है।

यही कारण है कि मगहर के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वांचल के दो दिवसीय दौरे पर शनिवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ पहुंच रहे हैं। आपको बता दें कि आजमगढ़ पूर्वांचल की एकलौती सीट थी जहां कमल नहीं खिला था। इसके बाद पीएम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे, जहां वे बुद्धिजीवियों के साथ बैठक करेंगे। रविवार को वह मिर्जापुर में लोगों से संवाद करेंगे। इस दौरान वह तीन रैलियों को संबोधित करेंगे।

पूर्वांचल को सौगात
पीएम मोदी आजमगढ़ में उत्तर प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी परियोजना पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करेंगे। लखनऊ को गाजीपुर से जोड़ने वाले इस हाईवे को तीन साल में पूरा करने का लक्ष्य है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे गोरखपुर इलाहाबाद और बुंदेलखंड के लिंक एक्सप्रेस वे से भी जुड़ जाएंगे। पीएम आजमगढ़ के बाद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में होमी भाभा कैंसर संस्थाना का शिलान्यास करेंगे।

पटेल समुदाय पर नजर
पीएम मोदी रविवार को अपना दल की सांसद अनु​प्रिया पटेल के संसदीय क्षेत्र मिर्जापुर जाएंगे। अपना दल का बीजेपी से गठजोड़ है। इस दौरान मोदी बाणसागर परियोजना का उद्घाटन करेंगे। पिछले दो दशकों से इस नहर प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। माना जा रहा है कि इस रैली के जरिए मोदी पटेल समुदाय और सहयोगी अपना दल को साधेंगे। आपको बता दें कि इससे पहले इसी हफ़्ते बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मिर्ज़ापुर का दौरा किया था।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here