लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई होगी

0
157

लखनऊ। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गुरुवार को चिनहट विद्युत उपकेंद्र का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान खामियों पर मंत्री ने अफसरों को कड़ी फटकार भी लगाई। काम में लापरवाही पाए जाने पर क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता और अधिशाषी अभियंता को चार्जशीट किये जाने के निर्देश भी दिए।

उपभोक्ताओं द्वारा कई बार उपकेंद्र की व्यवस्थाओं पर मंत्री को जनता दर्शन में शिकायतें की गई थीं। मेल और अन्य माध्यमों के जरिये भी यहां गलत बिल जारी करने, विद्युत कनेक्शन न दिए जाने, उत्पीडऩ की शिकायतें की गई थी। इसका संज्ञान लेते हुए मंत्री सुबह 10 बजे उपकेंद्र का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान वहां लार तैनात अधिशाषी अभियंता और अन्य सहयोगी स्टाफ अनुपस्थित रहा। मंत्री ने अधिकारियों को मौके पर ही तलब कर पत्रावलियों का निरीक्षण किया। इस दौरान गलत बिल दिए जाने, समय से बिल न मिलने और कनेक्शन न दिए जाने केके आवेदन भी लंबित मिले।

उन्होंने इस सम्बंध में जब अधिकारियों से सवाल किया तो कोई भी तर्कपूर्ण जवाब नहीं मिला। इसपर उन्होंने काफी नाराजगी व्यक्त की। इससे पूर्व भी दौरे के समय यहां पर तैनात अधिकारियों को लापरवाही के कारण चेतावनी भी दी जा चुकी थी। इसके बाद भी आपेक्षित सुधार न होने पर उन्होंने एमडी मध्यांचल संजय गोयल और चीफ इंजीनयर लेसा प्रदीप कक्कड़ को कार्यालय में तलब कर लापरवाही पर नाराजगी जताई।

अधीक्षण अभियंता और अधिशाषी अभियंता को चार्जशीट
चीफ इंजीनयर को कड़ी चेतावनी देते हुए साफ किया कि भविष्य में ऐसी समस्या न आये साथ ही नियमित स्तर पर उपकेंद्रों का दौरा कर लापरवाह अधिकारियों को चिह्नित करने के निर्देश भी दिए। लापरवाही पर एमडी मध्यांचल द्वारा अधीक्षण अभियंता अजय मिश्र और अधिशाषी अभियंता प्रेमचंद को चार्जशीट भी जारी की गई है। वहीं अनुपस्थित रहने वाले कर्मचारियों से भी जवाब तलब किया गया गया है।

उन्होंने सभी डिस्कॉम्स के एमडी को निर्देशित किया है कि विद्युत संबंधी समस्या का समाधान उपकेंद्र स्तर पर तय सिटीजन चार्टर के अनुसार कराना सुनिश्चित करें। सभी चीफ इंजीनियर अपने अधीन आने वाले उपकेंद्रों का निरीक्षण और जन समस्याओं का निपटारा सुनिश्चित कराएं। उपभोक्ता देवो भव: की कार्यशैली को प्रदर्शित करें। लापरवाही पर उच्चाधिकारियों की ही जिम्मेदारी तय की जाएगी।

सतीश महाना बोले- सपा सरकार को अपने काम पर विश्वास नहीं, हड़बड़ी में प्रोजेक्टों का शिलान्यास लखनऊ। इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट मिनिस्टर सतीश महाना ने कहा कि पिछली सपा सरकार को अपने काम पर, और सत्ता में लौटने पर विश्वास नहीं था। इसीलिये अखिलेश ने हड़बड़ी में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे व सैमसंग प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि पहली की सरकारों में ये होता था कि जब भी सरकार बदलती थी तो पिछली सरकार की योजनाओं को ड्राप कर देती थी, पर अभी हमारी सरकार में ये नहीं हो रहा है। किसी भी योजना को नहीं बंद कर रहे हैं। हम पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बना रहे है तो वो जनता का है न कि किसी पार्टी का । अखिलेश यादव ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का 14299 करोड़ में टेंडर किया था। हमने 2 साल बाद भी 1515 करोड़ रुपये बचाए है। क्या कारण था कि अखिलेश यादव ने इतनी जल्दी टेंडर किया, और क्यों फजऱ्ी शिलान्यास किया। अखिलेश यादव ने कहा था कि सैमसंग मेरे समय पर आई था, उस पर मैं कहना चाहता हूं कि जब हमने अपना विभाग ज्वाइन किया था तब मेरे पास सैमसंग वाइस प्रेसिडेंट का मैसेज आया। उनका कहना था कि हमारा इन्वेस्टमेंट 12 जनवरी 2017 से रुका हुआ है, हम आगे के बारे में नहीं सोच पा रहे है। अगर अखिलेश यादव की सोच इतनी तेज थी तो क्यों काम रुका पड़ा था। पिछली सरकारों के पास इंडस्ट्री के लिए समय नहीं था। सैमसंग पहले उत्तर प्रदेश छोडऩा चाहती थी पर आज वह विस्तार कर रही है , यह मौहल हमने दिया है ।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here