लखनऊ में बिना रजिस्ट्रेशन दौड़ रहे साढ़े चार लाख अवैध वाहन

0
144

लखनऊ। राजधानी में चार लाख से अधिक वाहन बिना रजिस्ट्रेशन के दौड़ रहे है। ये वाहन विभागीय नियमावली में अवैध हैं। इनमें दो व चार पहिया प्राइवेट वाहन शामिल हैं। इन वाहनों की उम्र 15 वर्ष पूरी हो चुकी है। इनका आरटीओ कार्यालय में पुन: नवीनीकरण नहीं कराया गया है। ऐसे वाहन मालिक परिवहन विभाग के रडार पर है। आरटीओ (प्रवर्तन) विदिशा सिंह ने बताया कि इन्हें नोटिस भेजने के बाद अगर एक माह तक जवाब नहीं आता है तो ऐसे वाहनों की धरपकड़ होगी। परिवहन विभाग ने लखनऊ सहित प्रदेश भर में दौड़ रहे बिना रजिस्ट्रेशन के दो व चार पहिया वाहनों की सूची तैयार की है। सूची में 31 मार्च 2018 तक 15 वर्ष उम्र पूरी कर चुके वाहनों का ब्योरा है।

लखनऊ में ऐसे वाहनों की संख्या चार लाख पैंतीस हजार के आसपास है। इनमें एक लाख से ज्यादा वाहनों को कबाड़ की श्रेणी में रखा गया है। बाकी वाहन वर्तमान में कहीं न कहीं चल रहे हैं। ऐसे वाहनों का पुन: पांच वर्ष के लिए नवीनीकरण नहीं कराया गया है। इस तरह के पुराने वाहन शहर में प्रदूषण फैला रहे हैं और जाम की वजह भी बने हैं।

गाड़ी कबाड़ी को बेची तो देना होगा ब्योरा
15 वर्ष पुरानी दो व चार पहिया गाड़ी अगर कबाड़ हो गई है। और किसी कबाड़ी को बेचने जा रहे है तो कबाड़ी से बेचने की रसीद और चेचिस नंबर लेना जरूरी होगा। इसी कागज को आरटीओ कार्यालय में जमा करके गाड़ी का पंजीकरण रद्द होगा। ऐसे नहीं करने पर गाड़ी आपके ही नाम रहेगी। इस गाड़ी से कोई घटना होती है तो वाहन स्वामी जिम्मेदार होगा।

चार हजार जुर्माने का प्रावधान
मोटरयान नियमावली में बिना पंजीकृत वाहनों के संचालन पर चार हजार जुर्माने का प्रावधान है। ऐसे वाहन स्वामी जिनके दो व चार पहिया वाहनों की उम्र पूरी हो गई गई है को अपने वाहनों का नवीनीकरण कराना जरूरी होगा।

लखनऊ जोन में पौने छह लाख वाहन
लखनऊ जोन में लखनऊ के अलावा दो व चार पहिया बिना पंजीकृत वाहनों में उन्नाव में 22 हजार के आसपास, रायबरेली में 32 हजार, सीतापुर में 34 हजार, लखीमपुर में 43 हजार व हरदोई में 19 हजार के आसपास वाहन एआरटीओ कार्यालय में बगैर पंजीयन कराए दौड़ रहे है।

पांच सबसे ज्यादा अवैध वाहनों वाले महानगर
जनपद दो पहिया चार पहिया
लखनऊ 3,72, 865 62, 243
कानपुर 1,16,764 34,520
इलाहाबाद 1,09,108 21,209
वाराणसी 1,45,116 13,845
गोरखपुर 47,341 10,891

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here