लखनऊ कमिश्नरेट को मिल सकता है डीजीपी पदक!

0
131

लखनऊ। अभी हालही में अपने कार्यकाल के छह माह पूरे करने वाले लखनऊ कमिश्नरेट को जल्द ही डीजीपी पदक से नवाजा जा सकता है। शातिर वाहन चोर गैंग का पर्दाफाश कर देश में अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी करने वाले लखनऊ कमिश्नरेट का नाम डीजीपी कार्यालय में डीजीपी पदक की रेस में सबसे आगे है बल्कि यह मान लें कि यह पदक लखनऊ की ही झोली में आने वाला है। लखनऊ से पहले सबसे अधिक 104 वाहन बरामद करने का रिकार्ड मुम्बई पुलिस के नाम दर्ज था।

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत कुमार पाण्डेय ने स्वतंत्र हित के विशेष सम्वांदाता के साथ खास बातचीत में बताया कि यह वास्तव में बहुत बड़ी उपलब्धि है। कमिश्नर ने कहा कि यह खुलासा हमारे लिए एक बड़ी चुनौती था क्योकि शातिर चोरो ने दुर्घटनाओं में क्षतिग्रस्त होने वाले वाहनों को अपनी डाल बना रखा था जिससे उन तक पहुंच पाना भी मुश्किल था पर हमारी टीम ने बेहद तत्परता के साथ कड़ी से कड़ी जोड़कर ना सिर्फ इस गैंग का पर्दाफाश किया बल्कि अब तक चोरी की 112 लग्जरी गाड़ियां बरामद कर इतिहास रच दिया। मंगलवार को चिनहट पुलिस ने इसी गैंग के सात और शातिर चोरों को गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी की 62 कारों को बरामद किया जिससे अब तक बरामद चोरी की गाड़ियों की संख्या 112 हो गयी है। कमिश्नर ने कहा कि इसके लिए टीम का हर सदस्य बधाई का पात्र है।

गौरतलब है कि चिनहट पुलिस ने हादसे और आपदा में क्षतिग्रस्त लग्जरी कारों के चेचिस व इंजन नंबर चोरी की गाड़ियों पर लगाकर बेचने वाले गिरोह के सात और शातिरों को मंगलवार को दबोच लिया। पुलिस ने गिरोह के पास से 62 और लग्जरी कारें बरामद की हैं। इसमें जिसमें बीएमडब्ल्यू फॉर्च्यूनर इनोवा सहित करीब छह करोड़ की कारें शामिल हैं। अब तक इस गिरोह के 12 शातिर गिरफ्तार हो चुके हैं। इस गिरोह के पास से अब तक कुल 112 लग्जरी कारें बरामद की गई है। पुलिस का दावा है कि पूरे देश में यह सबसे बड़ी बरामदगी है। यह गिरोह हादसे और आपदा में क्षतिग्रस्त गाड़ियों की वैल्यू लगाने के बाद खेल शुरू करते थे।

डीसीपी पूर्वी सोमेन वर्मा के मुताबिक, 15 जून को चिनहट पुलिस की चेकिंग के दौरान एक आई 20 कार छोड़कर कुछ लोग भाग गए। जब सही चेचिस व इंजन नंबर की जांच की गई तो असली मालिक का पता चला। यह गाड़ी पांच जून को गोमतीनगर से चोरी हुई थी। कमिश्नरेट पुलिस की इस सफलता के लिए पुलिस कमिश्नर सुजीत कुमार पाएडेय ने डीसीपी पूर्वी सोमेन वर्मा की टीम को 50 हजार रुपये का ईनाम देने की भी घोषणा की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here