राम मंदिर आदेश के बाद बोले मुस्लिम पक्ष के वकील, कहा- हम रिव्यू डालेंगे

0
705

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि चीफ जस्टिस ने आधा घंटे तक जजमेंट को पढ़ा। जजमेंट में बहुत सी बाते कहीं हैं।

सूट नंबर 4 की पूरी जमीन को उन्होंने एक पक्ष को दे दिया है। जिससे हम सहमत नहीं हैं। हम रिस्पेक्ट करते हैं फैसले की। किसी किस्म का कोई प्रोटेस्ट किसी साइड से नहीं होनी चाहिए। ये किसी भी विक्ट्री या हार नहीं है।

उन्होंने कहा कि हमारी आशाओं के हिसाब से जजमेंट नहीं आया है। हम इससे सर्टिफाई नहीं हैं। हम इसे न तो त्रुटि मानते हैं और न न्याय। हम कुछ पार्ट्स का क्रिटिसाइड्स कर रहे हैं हर चीज का नहीं।

बोर्ड की एक्जूक्यूटिव टीम डिसीजन लेगी कि रिन्यू फाइल करेंगे या नहीं। बहरहाल आज हमें लगता है कि हम फाइल करेंगे।

1991 के एक्ट को कोर्ट ने बहुत तवज्जों दी है। उन्होंने किसी एक कमेटी का बिलीब दूसरी से कम नहीं है। सबको बराबरी का अधिकार है।
कोर्ट ने माना है कि मस्जिद में नमाज हुई थी।
मुसलमानों का कब्जा 1857 के पहले का एवीडेंस नहीं है।
हम पुनर्विचार याचिका दाखिल करेंगे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here