यूपी पुलिस की काली करतूत, पुलिस के दबाब में युवक ने की आत्महत्या

0
39

अलीगढ़। यूपी में इन दिनों पुलिस बेलगाम हो गई है। बिना पैसों के मुजरिमों की गिरफतारी तो दूर उल्टे आम नागरिकों पर दबाब बनाकर उनको आत्महत्या जैसे कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है। रविवार को ऐसी ही एक घटना जनपद हाथरस के सिकन्द्राराॅउ थाना क्षेत्र के गांव डंडेसरी में हुई। जहां पुलिस के दबाब में 20 वर्षीय युवक ने आत्महत्या कर अपनी जान दे दी। मामला अगसौली चैकी के गांव डंडेसरी का है।

मृतक के पिता मुकेष ने बताया कि उनका लड़का विष्णु करीब दो माह पहले एक महिला को भगाकर लाया था। बाद में महिला के परिवारीजन भी गांव आए और वह संतुष्ट थे। बाद में पुलिस को इसकी जानकारी गांव के रहने वाले और चैकी पर तैनात होमगार्ड गिरीष पुत्र दुर्गपाल शर्मा ने चैकी प्रभारी अवधेश चैहान को दी। चैहान ने जांच के लिए चौकी में तैनात दरोगा गौतम को वहां भेजा। गौतम ने विष्णु से बिना किसी शिकायत के जेल भेजने को कहा और पैसों की डिमांड की। विष्णु ने पुलिस को उस दिन 2600 रूपए दिये ।

अब आए दिन उक्त दरोगा गांव के ही होमगार्ड के जरिए पैसों की डिमांड करने लगे। घटना वाले दिन रविवार को भी वह विष्णु से करीब 2000 रूपए लेकर गया और सोमवार को 12 हजार रूप्ए देने का कहा। लाॅकडाउन की वजह से विष्णु की व्यवस्था तंग हाल थी। वह पैसों का इंतजाम नही कर सका और दबाब में आकर जह़र खा लिया। परिजन उसको हॉस्पिटल ले गए जहां डाक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया।

जनपद में सबसे बदनाम है अगसौली पुलिस चौकी
थाना क्षे़त्र की अगसौली पुलिस चौकी रिश्वत के मामले में पूरे जनपद में टाॅप पर है। चौकी के पास में ही दो जिलों की सीमा लगी होने से यहां से अपराधियों का निकलना बहुत आसान है। लाॅकडाउन के दौरान भी यहां के पुलिस कर्मियों ने दबाकर चांदी काटी है।

क्षेत्र में होते हैं ये अनैतिक काम
अवैघ लकड़ी का खदान हो या कच्ची शराब या जुआ, इस क्षेत्र में आपको सबकुछ मिलेगा क्योंकि यहां पैसों के दम पर अपराधियों के सारे काम किए जाते हैं। चैकी प्रभारी अवधेष कुमार ने बताया कि उनके पास पैसों की कोई जानकारी नही है। गिरीष या किसी और ने पैसे लिए तो जांच की कार्रवाही की जाएगी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here