बुलबुल एक बला: बांग्लादेश से लेकर बंगाल और अब ओडिशा में भी तबाही

0
2786

प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ की वजह से ओडिशा सहित पश्चिम बंगाल में तीन लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है। इस चक्रवात ने दोनों राज्यों के तटीय जिलों में भारी तबाही मचाई, जिससे पेड़-पौधों के साथ हजारों घर और सैकड़ों फोन टावर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

यह जानकारी केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा रविवार को जारी की गई है। पश्चिम बंगाल और ओडिशा से प्राप्त रिपोर्ट का हवाला देते हुए मंत्रालय ने जानकारी दी कि प्रचंड चक्रवात ‘बुलबुल’ बांग्लादेश की ओर बढ़ चुका है। हालांकि अभी भी उसके प्रभाव से पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में 80 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं। तेज हवाओं के कारण पश्चिम बंगाल के बाशीरहाट में एक व्यक्ति पर पेड़ गिरने के कारण उसके मौत होने की जानकारी सामने आई है। वहीं ओडिशा में दो लोगों की मारे जाने की खबर सामने आई है। इनमें से एक की मौत डूबने से तो दूसरे की मौत दीवार के गिरने के कारण हुई।

पश्चिम बंगाल में ‘बुलबुल’ से कुल 7815 घर क्षतिग्रस्त हुए हैं और करीब 87० पेड़ों के गिरने की जानकारी सामने आई है। वहीं मंत्रालय ने बताया कि 95० फोन टावर भी इस तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए हैं। पश्चिम बंगाल में बिजली और दूरसंचार सेवाओं को पुन: बहाल करने का काम शुरू हो गया है। मंत्रालय ने कहा कि चक्रवात के प्रभाव के कारण ओडिशा के चार जिले गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं।

कोलकाता। बांग्लादेश में रविवार तड़के शक्तिशाली चक्रवात ‘बुलबुल के आने के कारण लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं दूसरी ओर, अब यह तूफान धीरे-धीरे पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहा है। बांग्लादेश के कनिष्ठ आपदा प्रबंधन मंत्री एनामुर रहमान ने बताया कि 18 लाख से अधिक लोगों को शनिवार शाम तक सुरक्षित निकाला गया।

शनिवार सुबह तक 5,000 से अधिक आश्रयगृह तैयार किए गए थे। चक्रवात के कारण 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली जबकि तट पार करने के बाद इसके कमजोर पड़ने की संभावना है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि तटीय क्षेत्र में किसी तरह के जान-माल की हानि की सूचना नहीं मिली है। चक्रवात का प्रमुख हिस्सा बंगाल से पार हो चुका है। वहीं उन्होंने परिस्थिति के सामान्य होने तक लोगों से घर के बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

* इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश से फसल और संपत्ति को हुए भारी नुकसान का सामना कर रहे पूर्वी भारत की स्थिति की भी समीक्षा की।

* उन्होंने ट्वीट किया, “पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बुलबुल चक्रवाती तूफान के सिलसिले में बातचीत हुई। मैं सभी की सुरक्षा और कुशलता की प्रार्थना करता हूं।”

* पश्चिम बंगाल में चक्रवात ‘बुलबुल’ के असर को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की है। उन्होंने ममता को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया है।

* चक्रवात ‘बुलबुल’ के रविवार तड़के बंगाल तट से टकराया, जिसके बाद से जारी भारी बारिश और तेज हवाओं में दो लोगों के मारे जाने की खबर है। सभी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है, जबकि 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here