बजरंगी की हत्या के बाद यूपी की जेलों में बंद डान को लगा डर

0
268

बागपत जेल में डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद कुख्यात अपराधियों को डर सताने लगा है। जिस तरह से जेल में बजरंगी की हत्या हुई उससे सरकार की भी नींद उड़ गई है। यही कारण है कि कई अपराधियों को दूसरी जेलों में सिफ्ट किया गया है। डॉन माफिया के अलावा 6 ऐसे और भी कुख्यात गैंगस्टर हैं जिनकी जान को खतरा देखते हुए बाराबंकी जेल से ट्रांसफर किया गया। इनमें शामिल हैं महेंद्र मिश्रा जिसे खीरी जेल भेजा गया, जबकि राकेश उर्फ़ हनुमान पांडे और अजय कुमार सिंह को उन्नाव जेल, अजय प्रताप सिंह को देवरिया, मिंटू सिंह को मिर्जापुर, बलराम सिंह को फतेहपुर जेल भेजा गया है। साथ ही जेल की चौकसी बढ़ा दी गई है।

मुख्तार अंसारी- उत्तर प्रदेश के मउ से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी बांदा जेल में बंद है। उन पर 40 से ज्यादा अपराधिक मामले दर्ज हैं। जान को खतरा देखते हुए 2006 से उन्हें कई जेलों में रखा गया। बागपत जेल में अपने सहयोगी डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या की खबर सुनने के बाद मुख्तार काफी सहम गए हैं। वह दो दिन से अपनी बैरक से बाहर नहीं निकले हैं। जेल प्रशासन ने हालांकि उनकी त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की है।

अतीक अहमद- उत्तर प्रदेश और बिहार में अतीक अहमद का टेरर आज भी है। उन पर हत्या, किडनैपिंग, जबरन वसूली जैसे 44 मामले दर्ज हैं। वो अभी देवरिया जेल में बंद है। लखनऊ, कौशाम्बी, चित्रकूट, इलाहबाद और बिहार के कुछ शहरों में भी उन पर मामले चल रहे हैं।

सुभाष ठाकुर— माफिया सुभाष ठाकुर फतेहगढ़ जेल में बंद है। ठाकुर को इंटरनेशनल डॉन दाऊद इब्राहिम से जान का खतरा माना जाता है। पिछले साल बनारस कोर्ट में याचिका दायर कर ठाकुर ने डॉन दाऊद इब्राहिम से जान को खतरा बताते हुए बुलेट प्रूफ जैकेट और सिक्यूरिटी की मांग की थी।

ब्रजेश सिंह— गैंगस्टर ब्रजेश सिंह बनारस जेल में बंद है। उन पर 27 से ज्यादा मामले मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, बंगाल में दर्ज हैं। 2008 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ब्रजेश सिंह को उड़ीसा से गिरफ्तार किया गया था। ब्रजेश पर 5 लाख रुपये से ज्यादा का इनाम सरकार ने घोषित किया था।

मुबारक खान— माफिया मुबारक खान एक पूर्व मंत्री की हत्या की साजिश रचने के मामले में सुल्तानपुर जेल में बंद है। कुछ समय पहले उसने कोर्ट में याचिका दायर कर सिक्यूरिटी की मांग की थीैै। उसने यह आरोप लगाया था कि उसे एक साजिश के तहत गिरफ्तार किया गया था और उसकी जान को एक नेता से खतरा है। इसलिए उन्हें सिक्यूरिटी दी जाए।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here