प्राइवेट अस्पतालों पर चलेगा केजरीवाल का हंटर, दिए ये निर्देश

0
285

आर्य टीवी डेस्क। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्राइवेट अस्पतालों के लिए दो टूक कहा है कि अगर वह सुधरे नहीं तो उनकी खैर नहीं है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्लीवासियों की सेवा के लिए ये अस्पताल खुलवाए गए हैं पैसे कमाने के लिए नहीं।

केजरीवाल ने कहा कि बेड की लिस्ट जारी करने से हड़कंप मचा हुआ है। कुछ अस्पताल गड़बड़ी कर रहे हैं। इसको सुधारने में थोड़ा समय लगेगा। ये बहुत पावरफुल लोग हैं। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पैसे कमाने के लिए अस्पताल नहीं बनवाने दिया, बल्कि सेवा करने के लिए बनवाया है। केजरीवाल ने कहा कि अगर प्राइवेट अस्पताल वाले ब्लैकमेल करने की कोशिश करेंगे तो उनकी खैर नहीं।

केजरीवाल ने कहा कि प्राइवेट अस्पताल वालों को कोरोना मरीजों को रखना ही होगा। उन्होंने कहा कि 20 प्रतिशत कोरोना मरीज उनको रखने ही होंगे। केजरीवाल ने कहा कि हमारे दिल्ली के लोगों का इलाज करना ही होगा इसमें कोई नेगोसिएशन नहीं होगा।

पहली बार देश ही नहीं बल्कि दुनिया के अंदर ऐसा ऐप बना है जो बेड की लिस्ट दे रहा है। मंगलवार को जब हमने इसको लॉन्च किया था तो कम मरीज थे अब 1100 अतिरिक्त मरीज एड हुए हैं।

केजरीवाल ने कहा कि कुछ दिन दीजिए मैं इन पर सख्त कार्रवाई करूंगा। हर प्राइवेट अस्पताल के रिशेप्शन पर हमारा आदमी बैठेगा और बेड की लिस्ट देगा। बेड की ब्लैक मार्केटिंग नहीं होने देंगे।
केजरीवाल ने कहा कि अगर कोई पेशेंट सीरियस है और उसकी कोरोना की जांच नहीं हुई तो लोग कहते हैं पहले जांच करेंगे तब भर्ती करेंगेे। केजरीवाल ने कहा कि किसी भी मरीज को एडमिट करने से मना नहीं किया जा सकता। अस्पताल उसका टेस्ट कराएगा और उसके एकॉर्डिंग इलाज करेगा लेकिन पहले उसका ट्रीटमेंट शुरू करेगा।

आज 53000 टेस्टिंग हुई हैं। दिल्ली में 42 लैब हैं प्राइवेट और सरकारी। 6 लैब गलत काम कर रही हैं उनके खिलाफ हमने कार्रवाई की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here