ग्लोब अस्पताल में लगी आग, मरीज फंसे, तीमारदारों ने कूद कर बचाई जान

0
1519
लखनऊ। ग्लोब हास्पिटल की दूसरी मंजिल पर बने सेमी डीलक्स रूम के एसी में शुक्रवार सुबह शार्ट सर्किट होने से आग लग गई। लपटें निकलते देख तीमारदारों ने अस्पताल कर्मियों को खबर दी। साथ ही वार्ड में भर्ती मरीजों को निकालने का प्रयास किया। इस दौरान कई तीमारदार जान बचाने के लिए खिड़की से पार्किंग की तरफ कूद गए। जिसमें तीन महिलाओं सहित कई लोगों को चोटें आई।  घायलों को विवेकानन्द अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, आग लगने की खबर पर पहुंचे दमकल कर्मी आधे घंटे बाद आग पर काबू पा सके।
आईटी चौराहे के पास ग्लोब अस्पताल है। शुक्रवार सुबह 8.30 बजे करीब दूसरी मंजिल पर बने सेमी डीलक्स रूम-201 में लगे एसी में शार्ट सर्किट हो गया। तेजी से लपटें उठने  लगी। देखते ही देखते पूरा फ्लोर धुंए से भर गया। मरीज व तीमारदारों को सांस लेने में दिक्कत होने लगी। आग लगने की खबर अस्पताल प्रशासन को मिली। पर, मरीजों व तीमारदारों को बचाने के लिए अस्पताल की तरफ से कोई प्रयास नहीं किए गए। आपातस्थिति में तीमारदारों ने ही अपने मरीजों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। वहीं, जान बचाने के लिए महिलाएं खिड़की से नीचे कूद गईं। आपाधापी में लोग घायल भी हुए। जिन्हें पुलिस व दमकल कर्मियों ने पास के विवेकानन्द अस्पताल में भर्ती कराया है।
उड़ान से पहले इंजन में आई खराबी, 3 घंटे परेशान रहे यात्री
लखनऊ। इंडिगो की मुम्बई जाने वाली उड़ान का इंजन शुक्रवार को खराब हो गया। काफी देर तक विमान में बैठे रहने के बाद यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया। यात्रियों का कहना था कि विमान में एसी चालू नहीं किया गया। तीन घण्टे बाद दूसरे विमान से यात्रियों को रवाना किया गया। इंडिगो का कहना है कि विमान के इंजन में तकनीकी खोट आने के बाद उसे रोक दिया गया। शुक्रवार को मुम्बई जाने वाली इंडिगो की उड़ान संख्या 6ई 685 को सुबह 7:45 बजे उड़ान भरनी थी। जैसे ही विमान टैक्सी वे से रनवे की तरफ बढ़ा उसके एक इंजन ने काम करना बंद कर दिया। यात्रियों का यह भी आरोप था कि उनको विमान में डेढ़ घण्टे तक बिठाए रखा गया।
पूर्व विधायक साहब सिंह व कई अन्य भाजपा में शामिल
लखनऊ। राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं पूर्व विधायक चौधरी साहब सिंह, बहुजन समाज पार्टी के एक मंडल कोऑर्डिनेटर चरण सिंह भारती जाटव तथा मुरादाबाद के पूर्व जिला अध्यक्ष रविकांत जाटव समेत दोनों पार्टियों के सदस्य एवं पदाधिकारियों ने शुक्रवार को भाजपा का दामन थाम लिया। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने इन सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई इस अवसर पर श्री पांडे ने कहा कि आज हुई इस ज्वाइनिंग से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा और सशक्त हुई है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सबका साथ सबका विकास की अवधारणा को लेकर चल रही है और जैसे-जैसे लोग इसे समझ रहे हैं वह सब भाजपा के साथ आ रहे हैं। डॉ पांडे ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है। जनता पूरे विपक्ष को पहले ही नकार चुकी है। जनता को भाजपा से बड़ी आशा है और हम उसे पूरा करने को तत्पर हैं।
साक्षी पहुंची कैम्प में, फोगाट बहनों को बताना होगा जायज कारण
लखनऊ। साई सेंटर में लगे सीनियर महिला कुश्ती राष्ट्रीय कैम्प से नदारत पहलवानों का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। भारतीय कुश्ती महासंघ ने साफ कह दिया है कि जिन पहलवानों पर अनुशानहीनता के कारण कार्रवाई की गई है उन्हें जायज कारण बताना होगा कि वे कैम्प में क्यों नहीं पहुंची हैं। उधर, 20 मई तक गर्दन की चोट के कारण कैम्प से छुट्टी लेने वाली ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक गुरुवार को लखनऊ पहुंच गई हैं। वहीं फोगाट बहनें गीता, बबिता, रितु व संगीता समेत करीब 13 पहलवानों की सूचना अब तक कैम्प में नहीं है। एशियाई खेल व विश्व चैंपियनशिप को ध्यान में रखते हुए सीनियर महिला पहलवानों का कैम्प 10 मई से साई सेंटर लखनऊ में शुरू होना था। पर पहलवानों के न पहुंचने के कारण यह कैम्प अपनी निर्धारित तारीख से नहीं शुरू हो सका। यह 13 मई से आधी-अधूरी पहलवानों के साथ शुरू हुआ। देश भर से चुनी गई 53 में करीब 15 पहलवानों के कैम्प में न पहुंचने का कारण चीफ कोच कुलदीप मलिक को नहीं पता चला। उन्होंने बुधवार को इन पहलवानों के कैम्प न पहुंचने की सूचना भारतीय कुश्ती महासंघ को भेजी।
महासंघ ने इसे गंभीरता से लिया और फोगाट बहनों समेत 13 पहलवानों को कैम्प से बाहर कर दिया है। इन पहलवानों का अगले माह एशियाई खेल के लिए होने वाले ट्रायल में हिस्सा लेना बेहद मुश्किल नजर आ रहा है। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिविर के लिये चुने गए पहलवानों को तीन दिन के अंदर रिपोर्ट करना होता है। अगर कोई दिक्कत होती है तो खिलाड़ी को अपने कोचों को बताना होता है ताकि दिक्कत का हल निकाला जा सके। वहीं कैम्प में गीता व बबिता की चचेरी बहन विनेश तो यहां आठ मई को ही पहुंच गई थीं। साक्षी मलिक भी गुरुवार को यहां पहुंच चुकी हैं। उधर, चीफ कोच कुलदीप मलिक ने बताया कि उनकी महासंघ को सौंपी गई रिपोर्ट रुटीन का हिस्सा है। कैम्प शुरू होने के दो-तीन दिन बाद चीफ कोच को रिपोर्ट करनी होती है कि कैम्प में कौन-कौन पहुंचा और कौन-कौन नहीं। इस पर महासंघ क्या कार्रवाई करता है यह उस पर निर्भर करता है।


loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here