कांग्रेस का सबसे बड़ा फर्जीवाड़ा: मजदूरों की राजनीति करने वाली प्रियंका की खुली पोल

0
268

मजदूरों को लेकर देशभर में चल रही राजनीति के बीच एक बड़ी खबर आई हैं। कांग्रेस की फायरब्रांड नेता प्रियंका गांधी ने जो एक हजार बसों की लिस्ट भेजी हैं। उसमें स्कूटर और आॅटो के नंबर दिए हैं। इसके बाद कांग्रेस सवालों के घेरे में आ गई हैं। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस महामारी में क्रूर मजाक कर रही है। कांग्रेस ने आॅटो10, मोटरसाइकिल के नंबर दिए हैं। कांग्रेस ने फर्जी लिस्ट भेजी है।

श्रमिकों को लेकर योगी और प्रियंका आमने-सामने आ गए हैं। प्रियंका ने लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की घर वापसी के लिए 1000 बसों को चलाने की पेशकश कर सूबे के प्रमुख विपक्षी दल के प्रमुख नेताओं को पीछे छोड़ दिया है। प्रवासी श्रमिकों के लिए बस संचालन को लेकर प्रियंका गांधी और योगी आदित्यनाथ के बीच सियासी संग्राम जारी है।

प्रियंका गांधी ने 16 मई को सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर कहा था कि हजारों श्रमिक, प्रवासी भाई-बहन बिना खाए भूखे-प्यासे, पैदल दुनिया भर की मुसीबतों को उठाते हुए अपने घरों की ओर चले आ रहे हैं। यूपी के हर बॉर्डर पर बहुत मजदूर मौजूद हैं. उन्हें प्रदेश के अंदर आने नहीं दिया जा रहा। ऐसे में 1000 बसों को चलाने की अनुमति देकर श्रमिकों की सेवा करने दीजिए। प्रियंका गांधी ने गाजियाबाद के गाजीपुर बॉर्डर से 500 और नोएडा बॉर्डर से 500 बसें चला कर लॉकडाउन में फंसे प्रवासी श्रमिकों को उनके गन्तव्य तक पहुंचाने की उत्तर प्रदेश सरकार से अनुमति मांगी थी।

यूपी सरकार ने 1000 बसों की पेशकश को स्वीकार किया तो प्रियंका गांधी ने धन्यवाद कहा। पिछले 24 घंटे से लगातार प्रियंका गांधी और योगी सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दांव लेटर के जरिए चला जा रहा है। प्रियंका गांधी की ओर से यूपी बॉर्डर पर बसें लगाई जाने लगी हैं, जिन्हें शाम पांच बजे से चलाए जाने की अनुमति मांगी गई है।

उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों पर योगी बनाम प्रियंका सिमटी सियासी लड़ाई को देखते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि आम जनता को ये समझ नहीं आ रहा है कि जब सरकारी, प्राइवेट और स्कूलों की पचासों हजार बसें खड़े-खड़े धूल खा रही हैं तो प्रदेश की सरकार प्रवासी मज़दूरों को घर पहुंचाने के लिए इन बसों को सदुपयोग क्यों नहीं कर रही है. ये कैसा हठ है? इससे पहले अखिलेश ने सरकार से 12 हजार बसें चलाने की मांग उठाई थी.

कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी मिशन 2022 पूरा करने के लिए बसपा−सपा को दरकिनार करके योगी सरकार पर लगातार हमलावर हैं. सोनभद्र में जमीन मामले को लेकर हुए नरसंहार के मामले से लेकर उन्नाव में रेप पीड़िता को जलाने तक का मामला हो या फिर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में पुलिसिया कार्रवाई में पीड़ितों की आवाज उठाने

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here