आयुष मंत्रालय ने रामदेव से मांगी ये जानकारी, फिलहाल दवाई के प्रचार पर रोक

0
63

देश में हर रोज 14 से 15 हजार कोरोना मरीज सामने आ रह हैं। ऐसे में मंगलवार को योगगुरु रामदेव(baba ramdev)ने कोरोना को मात देने वाली दवाई ‘कोरोनिल’ को लॉन्च किया। रामदेव ने दावा किया कि ये दवाई कोरोना(corona) को 100 प्रतिशत मात देती है और इसका रिजल्ट सौ फीसदी है।

इस खबर के बाद देशभर में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, लेकिन शाम होते-होते आयुष मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए इस दवाई के प्रचार पर रोक लगा दी और पतंजलि से पूरी जानकारी मांगी। मंत्रालय ने कहा कि इसको लेकर उसे कोई जानकारी नहीं दी गईै।अभी दवाई को मंजूरी नहीं दी है। इसलिए इसके प्रचार पर भी रोक लगा दी गई।

कोरोनिल पर मंत्रालय की रोक
आयुष मंत्रालय (ayush ministry) बाबा रामदेव (baba ramdev)की कोरोनिल के प्रचार पर भी रोक लगा दी है। कोरोना मरीजों का महज 7 दिनों में कोरोनिल (coronil)से इलाज के दावे पर आयुष मंत्रालय हरकत में आ गया और स्वत: संज्ञान लेते हुए साफ किया कि उन्हें इस तरह की दवा की कोई जानकारी नहीं हैं।

आयुष मंत्रालय ने पतंजलि से पूछे ये सवाल

• कोरोनिल दवा में इस्तेमाल किए गए तत्वों का विवरण दें।

• जहां दवा पर अध्ययन किया गया है उस जगह का नाम, हॉस्पिटल का नाम, प्रोटोकॉल, सैंपल साइज की भी डिटेल मांगी है।
• संस्थागत आचार समिति की मंजूरी, सीटीआरआई रजिस्ट्रेशन और अध्ययन के नतीजों का डेटा भी मांगा गया है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here