अंपन के बाद निसर्ग का खतरा, गृह मंत्री ने की उद्धव और रुपाणी से बात

0
290

अंपन के बाद अब चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ का अटैक होने वाला है। मुंबई से 600 किलोमीटर की दूरी पर कयामत खड़ी भारत की तरफ आने वाली है। गुजरात के तट से यह 3 जून को टकराएगा। इससे महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दमन-दीव और दादरा नगर हवेली में अलर्ट जारी किया गया है। इससे होने वाली तबाही की आशंका को देखते हुए राज्य सरकारों ने निचले स्थानों पर रहने वालों को निकालने का आदेश दिया है।

कहा जा रहा है कि 129 साल बाद यह तूफान लौट रहा है। निसर्ग 120 किलोमीटर की रफ्तार से आ रहा है। पूरब के बाद पश्चिम में खतरा बढ़ा है।

तीन राज्यों पर इसका सबसे ज्यादा खतरा मंडरा रहा है। इसमें महाराष्ट्र, गुजरात के साथ गोवा शामिल हैं। सभी राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। एनडीआरएफ की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है। आधा दर्जन से अधिक जिलों में नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की 10 टीमें तैनात की गई हैं। निसर्ग के खतरे से निपटने के लिए कुल NDRF 23 टीमों को तैनात किया गया है।

चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के खतरे को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने इससे निपटने की तैयारियों को लेकर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) के अधिकारियों और प्रभावित होने वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बैठक की। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्होंने हर संभव मदद का भरोसा दिया। गृह मंत्री ने गुजरात के सीएम विजय रुपाणी और उद्धव ठाकरे से बात की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here